कवर्धा चिकित्सकों और नर्सेस की बैठक लेकर सिविल सर्जन डॉ प्रभाकर ने की चर्चा

*चिकित्सकों और नर्सेस की बैठक लेकर सिविल सर्जन डॉ प्रभाकर ने की चर्चा*

* सीएमएचओ डॉ शैलेन्द्र मंडल व जीवनदीप समिति के सदस्य राजेश माखीजानी विशेष रूप से रहे उपस्थित।

कवर्धा। जिला अस्पताल के नवपदस्थ सिविल सर्जन डॉ पी सी प्रभाकर ने चिकित्सकों व स्टाफ नर्सेस की बैठक लेकर अनेक मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने चिकित्सकों कहा कि ड्यूटी समय का विशेष ध्यान रखकर कार्य करें। उन्होंने अति आवश्यक प्रकरणों को ही सम्बन्धित विशेषज्ञ चिकित्सक या वार्ड प्रभारी की अनुमति से रेफर करने के निर्देश दिए हैं। चिकित्सकों की बैठक में डेथ फार्म पूर्ण भरने, 376 एमएलसी प्रकरणों का जल्द से जल्द निराकरण करने, ड्यूटी के समय वार्ड में राउंड लेने व मरीज की पर्ची पर नोट्स डालने, पोस्ट मार्टम रिपोर्ट 5 दिवस के भीतर जमा करने, ऑफिसियल व्हाट्सअप ग्रुप में अनावश्यक पोस्ट नही करने, 25 तारीख तक ड्यूटी रोस्टर बनाकर पस्तुत करने जैसे विषयों पर विस्तार से चर्चा की गई।
इसी प्रकार जिला अस्पताल के सभा कक्ष में गत सोमवार को नर्सेस की भी बैठक ली गई। बैठक में ड्यूटी टाइम से आने, पेशेंट एडमिट होने पर उसका प्रॉपर डायग्नोसिस रजिस्टर में एंट्री करने, अपने ड्यूटी आवर में सफाई व्यवस्था का ध्यान रखने, डेथ फॉर्म प्रॉपर फील करने, पेशेंट्स का आयुष्मान भारत कार्ड उपयोग करने,बिना अनुमति अवकाश अथवा ड्यूटी एक्सचेंज नही करने जैसे अनेक विषयों पर विस्तार से चर्चा करके निर्देश दिए गए हैं। सिविल सर्जन डॉ प्रभाकर ने बताया कि चिकित्सकों के रिफ्रेशमेंट की व्यवस्था अस्पताल में ही कि जाएगी, जिससे चिकित्सक ऊर्जावान रहकर कार्यों का सम्पादन कर सकें।
बैठक में उपस्थित सीएमएचओ डॉ मंडल ने कहा कि शासन की मंशा अनुरूप जिला अस्पताल को बेहतर व्यवस्थाओं से जोड़ना है और इसके लिए सभी स्टाफ को आपसी सामंजस्य बनाकर कार्य करना होगा। मरीजों के स्वास्थ्य के साथ स्वयं के स्वास्थ्य की सुरक्षा भी सुनिश्चित करके कार्य करें। डॉ मंडल ने कहा कि ड्यूटी के वक्त किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर इसकी जानकारी अधिकारियों को अवश्य दें ताकि सही समय पर सुधार किया जा सके।
जीवन दीप समिति के सदस्य राजेश माखीजानी ने शासन के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए अपील किया कि जिला अस्पताल स्वास्थ्य सेवाओं के लिए बेहतर बने। लम्बे समय से रिक्त पड़े विशेषज्ञ चिकित्सकों , मेडिकल ऑफिसर व अन्य अनेक पदों पर माननीय मंत्री मोहम्मद अकबर जी के प्रयासों से भर्ती कराई गई है व शेष अनेक पदों पर भर्ती प्रक्रिया जारी है। मानव संसाधनों के बढ़ने का फायदा जिले की जनता को अवश्य मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि बाहर जिलों में जाकर भटकने के बजाए जनता को अधिक से अधिक स्वास्थ्य सेवाएं जिला अस्पताल में ही मुहैया कराई जाए। जेनेरिक दवाओं के साथ ही रेडक्रॉस द्वारा संचालित जन ओषधि केंद्र में सभी आवश्यक दवाइयां यहां उपलब्ध कराई जाएं। दवाओं का पूरा स्टॉक रखा जाए। श्री माखीजानी ने कहा कि हम सभी को प्रयास करना चाहिए कि यहां पर आए हुए मरीजों एवं परिजनों को किसी प्रकार की असुविधा ना हो, इसके लिए वार्ड बॉय की ड्यूटी अस्पताल के प्रवेश द्वार पर लगाने की व्यवस्था करने पर भी बैठक में चर्चा की गई। बैठक में कार्यकारिणी समिति के मेंबर अनिल दानी भी उपस्थित रहे।उन्होंने कहा कि जिला अस्पताल के सभी चिकित्सक व अन्य सभी स्टाफ आपसी सामंजस्य व तालमेल बनाते हुए पूरी ईमानदारी के साथ कार्य करें। उन्होंने कहा कि वैसे जिला अस्पताल की छवि पूर्व की अपेक्षा अब काफी सुधरने लगी है और जनता का भरोसा भी बढ़ने लगा है, जनता के भरोसे को बढाने के लिए हम सभी को कार्य करना होगा।
सिक्योरिटी गार्ड को सही ढंग से पार्किंग करवाने एवं सुरक्षा संबंधी आवश्यक निर्देश दिए गए। बाहर से आये मरीजों को मदद के लिए भटकना न पड़े इसके लिए आवश्यक है कि चिकित्सक , स्टाफ नर्स, वार्ड बॉय व सभी स्टाफ शासन द्वारा निर्धारित ड्रेस कोड में रहें। इसके अतिरिक्त कोविड-19 के समय जिला हॉस्पिटल के स्टाफ एवं डॉक्टर की बाहर लगाई गई ड्यूटी हटाकर उन्हें पुनः वापस जिला अस्पताल में सेवाएं लेने का भी निणर्य बैठक में लिया गया। अस्पताल व इसके परिसर की सफाई के लिए प्रत्येक स्टाफ की जिम्मेदारी सुनिश्चित करने पर भी चर्चा की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *