कलेक्टर ने रायपुर ग्रामीण क्षेत्रों, नगर पंचायत और नगर पालिका में कोविड-19 से बचाव, रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु हर संभव प्रयास करने के निर्देश दिए

 
हर विकासखण्ड मुख्यालय में कोविड-19 संबंधी बचाव, रोकथाम एवं नियंत्रण कार्य हेतु 24×7 कंट्रोल रुम बनेगा
 
सभी विकासखण्ड मुख्यालय में ऑक्सीजन सेंटर बनाने के भी निर्देश
रायपुर 26 अप्रैल 2021/ कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी रायपुर डॉ भारतीदासन ने जिले के सभी अनुविभागीय अधिकारी ( राजस्व) सह अनुविगागीय दंडाधिकारी,  सभी जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों तथा सभी नगर पंचायत और नगर पालिका के मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को अपने- अपने क्षेत्र में कोविड-19 से बचाव, रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु हर संभव प्रयास करने के निर्देश दिए हैं।
कलेक्टर ने कहा है कि ग्रामीण क्षेत्रों में विगत सप्ताह से कोविड-19 पॉजिटिव प्रकरणों में उल्लेखनीय वृद्धि देखी जा रही है।  कोविड-19 से बचाव, रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु हर संभव प्रयासो और पूर्व से किये जा रहें कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ सुनिश्चित करें।
कलेक्टर ने विकासखण्ड मुख्यालय में कोविड-19 संबंधी बचाव, रोकथाम एवं नियंत्रण कार्य हेतु आवश्यक संख्या में योग्य अधिकारियों -कर्मचारियों की ड्यूटी लगाते हुये तत्काल एक 24×7 कंट्रोल रुम स्थापित कर इसके दूरभाष नंबर का प्रचार-प्रसार सम्पूर्ण ग्रामीण क्षेत्र में व्यापक रूप से करने को कहा है। उन्होनें कंट्रोल रुम या अन्य किसी माध्यम से प्राप्त सूचना पर समुचित कार्यवाही अविलंब करने के निर्देश दिए हैं।
कलेक्टर ने विकासखण्ड केअन्तर्गत संचालित अस्पतालो और कोविड केयर सेंटर में बेड, ऑक्सीजन बेड,ऑक्सीजन सिलेन्डर की व्यवस्था एवं ऑक्सीजन की नियमित आपूर्ति की व्यवस्था अनुविभागीय दण्डाधिकारी से समन्वय से करने को कहा है।
उन्होनें कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में कोविड-19 पॉजिटिव पाये गये लक्षण-रहित व्यक्तियों के निवास-गृह में आवश्यक व्यवस्था उपलब्ध होने की स्थिति में होम आईसोलेशन की अनुमति दिया जाना है। निवास गृह अपर्याप्त / आवश्यक व्यवस्था अनुपलब्ध होने दशा में उपयुक्त आईसोलेशन सेंटर/ कोविड-19 केयर सेंटर में रखा जाना है। होम आईसोलेशन में रखे गए पॉजिटिव व्यक्तियों को निर्धारित प्रोटोकॉल अनुसार दवा वितरण भी किया जाना है। समुचित कार्य-योजना बनाकर उपयुक्त अधिकारी / कर्मचारियों की ड्यूटी लगाते हुये इसकी कार्यवाही सुनिश्चित करे।
उन्होनें ब्लाक मेडिकल ऑफिसर से आवश्यक सहयोग प्राप्त करते हुये सभी विकासखण्ड मुख्यालय में ऑक्सीजन सेंटर स्थापित करने को कहा है, जिससे किसी भी आपात-स्थिति की दशा में प्रभावी सहायता एवं कार्यवाही की जा सकें।
उन्होनें नगरीय पालिका परिषद तिल्दा-नेवरा, गोबरा नवापारा तथा आरंग में न्यूनतम 30 बेड का ऑक्सीजन सुविधायुक्त कोविड-19 केयर सेंटर तत्काल स्थापित करने के निर्देश दिए है। इसके लिए नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के
 निर्देशानुसार तथा अध्यक्ष / पार्षदगण से समन्वय करते हुये पार्षद निधि की राशि का उपयोग किया जा सकता है।
कलेक्टर ने  सभी ग्राम पंचायतों एवं उनमें सम्मिलित ग्रामों में समुचित संख्या में ऑक्सीमीटर की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है।
उन्होनें ग्रामीण क्षेत्र के अन्तर्गत मितानिन/एम.पी.डब्ल्यू. इत्यादि स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा क्षेत्र में भ्रमण कर लक्षण को-मॉर्बिटिटी वाले व्यक्तियों का ऑक्सीजन लेबल, ऑक्सीमीटर के माध्यम से लेने तथा ऑक्सीजन लेबल 94 से कम होने पर तत्काल कोविड-19 जांच कराते हुये निर्धारित प्रोटोकाल अनुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *