Saturday, May 18

आपस में समन्वय बनाकर शांतिपूर्ण ढंग से निष्पक्ष चुनाव कराए: व्यय प्रेक्षकों के निर्देश

व्यय प्रेक्षक श्री पाठक एवं श्री कुमार ने की निर्वाचन तैयारियों की समीक्षा

रायपुर 13 अप्रैल 2024/ लोकसभा निर्वाचन 2024 के लिए नियुक्त किए गए व्यय प्रेक्षक श्री आस्थानंद पाठक एवं श्री रणविजय कुमार ने आज निर्वाचन के लिए जिले में अब तक की गई प्रशासनिक तैयारी की समीक्षा की। उन्होंने निर्वाचन कार्य से संबद्ध सभी अधिकारियों को आपस में समन्वय बनाकर जिले में  शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष तथा परदर्शी मतदान निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार संपन्न कराने के निर्देश दिए। जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. गौरव सिंह ने दोनों व्यय प्रेक्षकों को निर्वाचन खर्चें की निगरानी के लिए की गई व्यवस्थाओं, वीडियो अवलोकन दलों, उड़नदस्तों सहित वीडियोग्राफी, मीडिया प्रमाणन एवं मीडिया अनुवीक्षण टीम आदि तैयारी की विस्तृत जानकारी दी। इस दौरान बैठक में जिला पंचायत के सीईओ श्री विश्वदीप और नगर निगम आयुक्त श्री अबिनाश मिश्रा भी मौजूद रहे। बैठक में लोकसभा निर्वाचन के लिए गठित व्यय निगरानी दलों के प्रभारी-अधिकारी और सदस्य भी उपस्थित थे।

रेडक्रॉस सभाकक्ष में आयोजित बैठक में दोनों व्यय प्रेक्षकों ने निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार तैयारियां अपडेट रखने के निर्देश दिए। उन्होंने राजस्व एवं पुलिस विभाग सहित अन्य सभी विभागों के निर्वाचन कार्य में संलग्न अधिकारियों को आपस में समन्वय बनाकर कार्य करने और निर्वाचन प्रक्रिया में सहभागी बनने के निर्देश दिए। व्यय प्रेक्षकों ने निर्वाचन संबंधी कार्यों का प्रतिदिन लेखा जोखा के साथ, कंट्रोल रुम में चौबीस घंटे जिम्मेदार कर्मचारियों की तैनाती के निर्देश दिए।

गंभीरता से नियमानुसार करें वाहनों की जांच- व्यय प्रेक्षक श्री आस्थानंद पाठक ने निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान गठित विभिन्न जांच दलों को आदर्श आचरण संहिता का पालन करने के साथ जांच के नाम पर अनावश्यक परेशान नहीं करने के संबंध में निर्देशित करने कहा। उन्होंने निर्देश दिया कि जांच दल अपने जांच के दौरान यह देखे कि कोई व्यक्ति चुनावी प्रायोजन अथवा किसी प्रत्याशी, मतदाताओं को प्रभावित करने के उद्देश्य से किसी प्रकार की सामग्री का परिवहन तो नहीं कर रहा है। जांच टीम द्वारा आवाश्यक दस्तावेज मांगे जाने पर और प्रस्तुत किए जाने पर संबंधित व्यक्ति को परेशान न किया जाये। उन्होंने मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मॉनीटरिंग कमेटी को सतर्क रहने, चेकपोस्ट पर अवैध २ाराब की धर पकड़, सम्पति विरुपण की कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने किसी भी विवाद को सुलझाने में सभी की भूमिका आवश्यक होने की बात कही।

चेकपोस्ट में सक्रिय होकर करें वाहनों की जांच: व्यय प्रेक्षक श्री कुमार-व्यय प्रेक्षक श्री रणविजय कुमार ने बैठक में उपस्थित स्थैतिक निगरानी दल और उड़नदस्ता के सदस्यों को निर्देशित किया कि वे संबंधित चेकपोस्ट में पूरी टीम के साथ निश्चित समय के साथ उपस्थित होकर वहां से गुजरने वाले वाहन की जांच करें। किसी प्रकार की अवैध सामग्री, अवैध २ाराब जो चुनावी प्रायोजन के लिए हो, उसकी जब्ती बनाकर उचित कार्यवाही के साथ वरिष्ठ अधिकारियों को भी सूचित करें। उन्होंने संपूर्ण कार्यवाही की अनिवार्य रुप से वीडियोग्राफी कराने के निर्देश दिए।

देनी होगी दैनिक रिपोर्ट-
 श्री कुमार ने निर्देशित किया कि स्थैतिक निगरानी दल द्वारा चेकपोस्ट में की गई प्रतिदिन की कार्यवाही का विवरण निर्धारित प्रपत्र के माध्यम से देना होगा। प्रतिदिन कार्यवाही की हुई वीडियोग्राफी से संबंधित फुटेज सीडी में व्यय लेखा टीम को उपलब्ध कराना होगा। किसी भी कार्यवाही की जानकारी रिटर्निंग अधिकारी, पुलिस अधीक्षक को देनी होगी।

दस लाख या अधिक रकम, ज्वेलरी की जांच करेंगे आयकर अधिकारी- श्री कुमार ने बताया कि लोकसभा निर्वाचन 2024 के दौरान किसी व्यक्ति से नगदी दस लाख रुपये या अधिक अथवा इस कीमत की सोने-चांदी आदि जब्त होने पर तत्काल इसकी जब्ती कर आयकर विभाग के अधिकारियों को सूचना दी जायेगी। इनकम टैक्स विभाग के अधिकृत अधिकारी जब्त रुपये, आभूषण की जांच करेंगे। एफआईआर दर्ज के साथ जब्त रुपये, आभूषण के संबंध में दस्तावेजोें की जांच के उपरांत ही आगे की कार्यवाही की जायेगी। व्यय प्रेक्षक ने लोगों से कार्यवाही से बचने के लिए रुपये एवं आभूषण संबंधी दस्तावेज साथ रखने की अपील भी की।

दस्तावेज साथ रखें और जांच में सहयोग करें: 
कलेक्टर डॉ. गौरव सिंह-कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. गौरव सिंह ने आम नागरिकों से अपील की है कि चुनाव आयोग के निर्देशानुसार जगह-जगह चेकपोस्ट बनाकर आदर्श आचरण संहिता का पालन एवं अन्य कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है। ऐसी सभी कार्यवाहियां स्वतंत्र और निष्पक्ष निर्वाचन के लिए की जा रही है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि निर्वाचन जैसे महत्वपूर्ण समय में किसी भी प्रकार से अधिक मात्रा में सामान, आभूषण, नकदी आदि का परिवहन करने से बचें। अतिआश्वयक होने पर ऐसे सभी समानों और नगदी आदि के वैध और पर्याप्त दस्तावेज अपने साथ रखे। कलेक्टर ने अपील की है कि जांच के दौरान जांच टीम का सहयोग करते हुए जांच अनिवार्य रुप से कराये। संपूर्ण जांच की वीडियोग्राफी होगी जांच नहीं करने देने पर नियमानुसार कानूनी कार्यवाही की जा सकती है। कलेक्टर ने स्थैतिक दल फ्लाइंग स्कॉयड दल को निष्पक्ष एवं पारदर्शी होकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *