कांग्रेस-भाजपा ने चुनाव में आदिवासी को प्रभारी बनाने के योग्य नहीं समझा – जकांछ दोनों पार्टियों ने बाहरी को ही चुनाव प्रभारी बनाया – रिजवी

रायपुर। 01/10/2020। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख, मध्यप्रदेश पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष, पूर्व उपमहापौर तथा वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने कहा है कि मरवाही उपचुनाव के लिए कांग्रेस एवं भाजपा जैसे राष्ट्रीय दलों ने बाहरी लोगों को चुनाव का प्रभारी बनाया है जो मरवाही का ‘म’ तक नहीं जानते तथा भौगोलिक स्थिति के बारे में पूर्णरूप से अनभिज्ञ हैं। उन्हें उस क्षेत्र के बेर का पेंदा कहां है इसकी भी जानकारी नहीं है। कांग्रेस व भाजपा में जकांछ के प्रत्याशी अमित जोगी के विरूद्ध चुनाव में खड़े करने लायक प्रत्याशी के लाले पड़े हुए हैं। दोनों दल केवल चुनाव में अपने दल का प्रत्याशी खड़ा करके औपचारिकता के निर्वहन तक सीमित हैं क्योंकि दोनों राष्ट्रीय दल प्रत्याशी चयन में अपने आपको असहाय महसूस कर रहे हैं।
रिजवी ने कहा है कि मरवाही जोगी परिवार का गढ़ है, वहां मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल स्वयं प्रभारी बनकर अपनी क्षमता एवं लोकप्रियता को परख सकते थे परन्तु श्री बघेल इस चुनाव में प्रभारी बनकर जोखिम उठाने से कतरा रहे हैं क्योंकि प्रदेश की जनता पराजय के बाद इस्तीफे की मांग कर देगी तथा नैतिकता के नाते श्री बघेल को इस्तीफा देना पड़ जायेगा। आदिवासी सीट के लिए कांग्रेस ने किसी आदिवासी मंत्री अथवा आदिवासी नेता को चुनाव प्रभारी बनाने की हिम्मत नहीं जुटा पाई तथा यह तय हो गया है कि कांग्रेस को करारी शिकस्त मिलने वाली है।
बाााा
प्र
पााा
नििि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *