रंग रोगन के नाम पर अप्रत्यक्ष रूप से कांग्रेस करना चाहती है पार्टी का प्रचार तेजेन्द्र तोड़ेकर

प्रदेश सरकार रंग रोगन के नाम पर अपनी पार्टी का प्रचार करना चाहती है। पहले ही सरकार फोटो बदलने के नाम पर करोड़ो रूपये बर्बाद कर चुकी है , अब राशन दुकानों को रंगने के पीछे सिर्फ प्रदेश सरकार अप्रत्यक्ष रूप से अपने पार्टी का प्रचार करना चाहती है।
तेजेंदर तोड़ेकर ने आक्रोशित हो कर कहा की एक तरफ केंद्र सरकार और पूर्ववर्ती प्रदेश की बीजेपी सरकार ने भगवाकरण करने का काम किया उसी तर्ज पर आज कांग्रेस सरकार अपने पार्टी के प्रचार के लिए रंग रोगन की तैयारी कर रही है, जबकि जिस राशन दुकानों को रंगने कि बात हो रही है, उन्ही दुकानों में व्यवस्था दुरुस्त करने की जरूरत है जहाँ कभी आधार या कभी अव्यवस्था के कारण हितग्राहियों को चक्कर काटना पड़ता है।

तेजेंदर तोड़ेकर ने आगे कहा की छत्तीसगढ़ के लोगों को अच्छी शिक्षा, बेहतर स्वास्थ्य और युवाओं को रोजगार चाहिए , न कि दीवारों पर रंग रोगन ।

बात तिरंगे के सम्मान की हो रही है तो तिरंगा हमारी आन बान और शान है और हर भारतीय का सर तिरंगे के सम्मान में हमेशा झुकता है, तिरंगे के लिए अलग से नियम कानून बनाया गया है, वैसे भी उस नियम के अनुसार आप कही भी बिना नियम का अनुसरण करें तिरंगे का उपयोग नही कर सकते ।

यूथ अध्यक्ष तेजेंदर तोड़ेकर ने अंत में कहा की कुल मिलाकर प्रदेश सरकार तिरंगे के माध्यम से राजनीति कर रही है और जनता के गाढ़ी कमाई के टैक्स के पैसे से अपना राजनैतिक चेहरा चमकाना चाहती है ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *