कोचिंग संचालकों की मांग, राजधानी में फिर से खुलें कोचिंग संस्थान – मार्च से ही बन्द हैं कोचिंग संस्थान, छात्र और कर्मचारियों को होगा लाभ


भोपाल। कोरोना के कारण भोपाल शहर की समस्त कोचिंग और शैक्षणिक संस्थान मार्च से ही बन्द हैं। जिसके कारण प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों का भविष्य तो दांव पर लग गया है। सैकड़ों लोगों की आय पर भी संकट के बादल छा गए हैं। इन्हीं समस्याओं को लेकर गुरुवार को भोपाल कोचिंग एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने भाजपा प्रवक्ता दुर्गेश केसवानी के नेतृत्व में भोपाल कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया से मुलाकात कर इन से सम्बंधित समस्याओं से जुड़ा ज्ञापन सौंपा।

केसवानी के नेतृत्व में कोचिंग संचालक प्रिंस पंजाबी, मृदुल गुप्ता, राहुल गुप्ता  व अरविंद नेमा ने भोपाल कलेक्टर को कोचिंग संचालकों की समस्याओं से अवगत कराया। कोचिंग संचालकों की समस्याओं को कलेक्टर ने ध्यान ने सुनते हुए मांगों पर विचार करने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर उन्होंने कोचिंग को शीघ्र खुलवाने के लिए गाइडलाइन अथवा एडवाइजरी जारी करने का भी आश्वासन दिया। जिसके कारण कोचिंग संस्थान खुलने से सरकारी नौकरी की तैयारी करने वाले छात्रों को नई उम्मीद जगी है। साथ ही कोचिंग संस्थान और उससे संबंधित व्यवसाय कर रहे लोगों को भी आशा की सुनहरी किरण दिख रही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *