बलात्कारियों को नपुसंक बनाने की मांग ,मंत्री डहरिया की सोच महिलाओं का अपमान-उत्कल महिला महामंच।

बेटिया वरदान, देश और समाज की अभिमान

*बढ़ते महिला अपराध के विरूघ्द महिलाओं ने किया प्रदर्शन।*

रायपुर, छ0ग0, दिनांक 6 अक्टूबर 2020। प्रदेश में बढ़ते हुए बलात्कार की घटना और महिला अपराध पर आक्रोश व्यक्त करते हुए आज राजधानी की सैंकड़ों महिलाओं ने उत्कल महिला महामंच छत्तीसगढ़ के बैनर तले प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती सावित्री जगत के नेतृत्व में घड़ी चैक स्थित बाबा साहेब अंबेडकर के प्रतिमा के समक्ष महिला अपराध विरोधी तख्ती हाथों में लेकर प्रदर्शन किया। इस दौरान श्रीमती सावित्री जगत ने कहा बलात्कारी इंसान नहीं पशु तुल्य जानवर और हैवान हैं इनकी सजा इनको नामर्द-नपुसंक बनाने की होनी चाहिए और ऐसे समाज विरोधियों के लिए समाज में कोई स्थान नहीं होना चाहिए।*

इस दौरान बलात्कार की घटना को मंत्री श्री डहरिया जी के द्वारा छोटी घटना बताने वाले मीडिया के सवाल पर श्रीमती सावित्री जगत ने कहा बलात्कार की घटना छोटी या बड़ी नहीं होती बल्कि पीड़िता के इज्जत के साथ खेले जाने वाला एक घृणित अपराध हैं जो समाज को कलंकित कर देता हैं। ऐसे अपराध को छोटी बताना मंत्री जी एक बड़ी भूल हैं और महिलाओं के मान-सम्मान के विरूध्द है।*

*श्रीमती सावित्री जगत ने कहा बेटियां घर परिवार और समाज के लिए वरदान होती हैं, बेटिया परिवार की मान सम्मान, देश और समाज की अभिमान हैं, इनको कुचलने वाले यह भूल जाते हैं इस पाप के लिए उन्हें नर्क में भी स्थान नहीं मिलेगा।*

*आज के प्रदर्शन में प्रमुख रूप से महिला महामंच की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती सावित्री जगत, हेमा सागर, अनिता बघेल, संतोषी सोनी, गंगा पांडे, मन्नी तांडी, विमला निहाल, लक्ष्मी सोनी, कुंती महानंद, मिथिला महानंद, शोभा चैहान, किरण राव, चांदनी दीप, संध्या जगत, राखी तांडी, सुनीता बाघ, धीरमती सागर, सरस्वती तांडी, तुलसी बाघ, सुकमती, संतु बाघ, उलोसो जगत, बसंती तांडी, लाल बाई तांडी, पार्वती सोना, अनिता नायक सहित बड़ी संख्या महिलाएं उपस्थित थी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *