Thursday, July 18

विकसित छत्तीसगढ़-मेरे सपनों का खुशहाल छत्तीसगढ़ विषय पर होगी निबंध प्रतियोगिता

*लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी*

रायपुर, 10 जुलाई 2024/प्रदेश के सभी शासकीय, अनुदान प्राप्त एवं निजी उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में कक्षा 11वीं एवं 12वीं में अध्ययनरत विद्यार्थियों के बीच विकसित छत्तीसगढ़ मेरे सपनों का खुशहाल छत्तीसगढ़ विषय पर निबंध प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। इस संबंध में संचालक लोक शिक्षण द्वारा प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी कर विस्तृत निर्देश जारी किया गया है। निबंध प्रतियोगिता का आयोजन 18 जुलाई 2024 को सबेरे 11 बजे से दोपहर एक बजे तक सम्पन्न कराने को कहा गया है। साथ ही मूल्यांकन कार्य उसी दिन पूर्ण करके विद्यालय स्तर पर सर्वश्रेष्ठ निबंध का चयन कर चयनित निबंध को जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में इस हेतु नियुक्त नोडल अधिकारी को 19 जुलाई तक भेजने को कहा गया है।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आजादी के अमृतकाल 2047 तक भारत को विकसित राष्ट्र बनाने देशवासियों का आह्वान किया है, जिसके अनुक्रम में मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय के नेतृत्व में राज्य सरकार 2047 तक प्रदेश को विकसित बनाने वचनबद्ध है। राज्य शासन द्वारा ‘अमृतकाल: छत्तीसगढ़ विजन 2047’ विजन डाक्यूमेंट तैयार करने का दायित्व राज्य नीति आयोग को सौंपा गया है। विजन डाक्यूमेंट हेतु सुझाव आमंत्रण के लिए विभिन्न स्तर पर कार्यवाहियां व प्रयास किये जा रहे है। इसी कड़ी में प्रदेश के युवा पीढ़ी विशेष कर विद्यार्थियों के रचनात्मक विचार व उनके दृष्टिकोण जानना महत्वपूर्ण है।

जारी पत्र में प्रतियोगिता हेतु जिला स्तर पर एक नोडल अधिकारी नामांकित करने का निर्देश दिया गया है, जो जिले कि समस्त शालाओं के सर्वश्रेष्ठ निबंधों का संकलन जिला स्तर पर करेगा। विद्यालयों के श्रेष्ठ निबंधो का जिला स्तर पर मूल्यांकन 22 जुलाई 2024 को किया जाएगा। जिला स्तर पर मूल्यांकन कम से कम 03 विशेषज्ञों के पैनल द्वारा कराए जाने का निर्देश दिया गया है। जिला स्तर पर तीन सर्वश्रेष्ठ निबंध का चयन कर चयनित निबंध को जिला स्तर से प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा।

जिला स्तर पर चयनित 03 निबंधों को कम्प्यूटर पर हिन्दी फॉट यूनिकोड में टाईप करवा कर उसका पीडीएफ एवं वर्ड फाईल लोक शिक्षण संचालनालय के योजना कक्ष के प्रभारी अधिकारी के समक्ष 24 जुलाई 2024 तक उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही संबंधित विद्यार्थी की स्वलिखित प्रति, जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में सुरक्षित रखने को कहा गया है। निबंध की शब्द सीमा-1500 से 2500 शब्द निर्धारित किया गया है। निबंध की भाषा- हिन्दी अथवा अंग्रेजी में रहेगी।

जारी पत्र में निबंध हेतु मार्गदर्शिका के माध्यम से बताया गया है कि निबंध की संरचना में छत्तीसगढ़ की वर्तमान स्थिति की मूल्यांकन, छत्तीसगढ़ की सामर्थ्य व कमजोरियों को समाहित किया जाए। समृद्ध व समावेशी राज्य के रूप में कल्पना, राज्य के औद्योगिक विकास, कृषि वानिकी में सुधार, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, कौशल विकास, गुणवत्तायुक्त स्वास्थ्य व पोषण, बुनियादी ढांचे में सुधार, सामाजिक समावेश और सुशासन जैसे पहलुओं का विशेष उल्लेख हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *