करंट से जंगली सूअर का शिकार करने वाले चार आरोपियों को वन विभाग की टीम ने दबोचा

महासमुंद जिले में जंगली जानवरों का शिकार थमने का नाम नहीं ले रहा है वनांचल इलाकों में रोजाना लोग जंगली जानवरों का शिकार कर दिए नजर आ रहा है वन विभाग द्वारा लगातार कार्यवाही भी की जा रही है लेकिन वन्य प्राणियों के संरक्षण और सुरक्षा की दृष्टि से सरकार द्वारा उठाया जा रहे कदम यहां कारगर साबित नहीं हो रहे हैं और वनांचल क्षेत्र में लगातार जंगली जानवरों के शिकार करने वाले लोग देखे जा रहे हैं ऐसा ही मामला सरायपाली वन परिक्षेत्र में सामने आया है जहां जंगली जानवर का शिकार करने वाले 4 लोगों को वन विभाग की टीम ने गिरफ्तार किया है। वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार वन परिक्षेत्र के कोसमपाली बीट इलाके में अज्ञात व्यक्ति द्वारा ग्राम तिलाई पाली के पास लगे ट्रांसफार्मर से इंजी आई विद्युत तार जंगल की ओर बिछाते हुए लगाया गया था जिसकी रात्रि गश्त करने वाली टीम द्वारा जांच की गई इसी दौरान ग्राम बसंतपुर पटेल मैं डीलक्स मोटरसाइकिल से आते हुए 4 लोगों को पकड़ा गया जिनके पास जंगली सूअर का मांस लगभग 8 किलो जंगली सूअर का जबड़ा एवं अन्य अवशेष पाया गया जिन्हें जप्त किया गया। जंगली जानवरों का शिकार करने वाले इन आरोपियों से विजई तार भी बरामद किया गया सभी आरोपी डुडूमचुआ एवं मौहाडीपा के रहने वाले बताऐ गये हैं। बिजली करंट का तार लगाकर जंगली जानवर का शिकार करने के इस मामले में वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 950 और 51 के तहत प्रकरण दर्ज कर मामले की विवेचना की जा रही है सभी आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है वन परिक्षेत्र सरायपाली द्वारा किए गए इस कार्यवाही में मुख्य रूप से वन क्षेत्रपाल रामलाल व्यवहार, वनपाल बलौदा सतीश कुमार पटेल वनरक्षक वेद प्रकाश , सुरेश साहू की महत्वपूर्ण भूमिका रही। हम आपको बता दें कि महासमुन्द जिले के वनांचल इलाके में जंगली जानवरों के शिकार के रोज नए मामले सामने आ रहे हैं लेकिन जंगली जानवरों का शिकार रोकने की दिशा में वन विभाग की टीम कोई ठोस और कारगर कदम नहीं उठा पा रहा है ऐसे में वन्य प्राणियों के संरक्षण और संवर्धन की दिशा में उठाए जा रहे तमाम उपायों पर पानी फिरता नजर आ रहा है।

बाईट- रामलाल व्यवहार वन क्षेत्रपाल सरायपाली

रिपोर्ट – किशोर कर महासमुंद

किया गिरफ्तार

सरायपाली वन परिक्षेत्र का मामला

एंकर – महासमुंद जिले में जंगली जानवरों का शिकार थमने का नाम नहीं ले रहा है वनांचल इलाकों में रोजाना लोग जंगली जानवरों का शिकार कर दिए नजर आ रहा है वन विभाग द्वारा लगातार कार्यवाही भी की जा रही है लेकिन वन्य प्राणियों के संरक्षण और सुरक्षा की दृष्टि से सरकार द्वारा उठाया जा रहे कदम यहां कारगर साबित नहीं हो रहे हैं और वनांचल क्षेत्र में लगातार जंगली जानवरों के शिकार करने वाले लोग देखे जा रहे हैं ऐसा ही मामला सरायपाली वन परिक्षेत्र में सामने आया है जहां जंगली जानवर का शिकार करने वाले 4 लोगों को वन विभाग की टीम ने गिरफ्तार किया है। वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार वन परिक्षेत्र के कोसमपाली बीट इलाके में अज्ञात व्यक्ति द्वारा ग्राम तिलाई पाली के पास लगे ट्रांसफार्मर से इंजी आई विद्युत तार जंगल की ओर बिछाते हुए लगाया गया था जिसकी रात्रि गश्त करने वाली टीम द्वारा जांच की गई इसी दौरान ग्राम बसंतपुर पटेल मैं डीलक्स मोटरसाइकिल से आते हुए 4 लोगों को पकड़ा गया जिनके पास जंगली सूअर का मांस लगभग 8 किलो जंगली सूअर का जबड़ा एवं अन्य अवशेष पाया गया जिन्हें जप्त किया गया। जंगली जानवरों का शिकार करने वाले इन आरोपियों से विजई तार भी बरामद किया गया सभी आरोपी डुडूमचुआ एवं मौहाडीपा के रहने वाले बताऐ गये हैं। बिजली करंट का तार लगाकर जंगली जानवर का शिकार करने के इस मामले में वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 950 और 51 के तहत प्रकरण दर्ज कर मामले की विवेचना की जा रही है सभी आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है वन परिक्षेत्र सरायपाली द्वारा किए गए इस कार्यवाही में मुख्य रूप से वन क्षेत्रपाल रामलाल व्यवहार, वनपाल बलौदा सतीश कुमार पटेल वनरक्षक वेद प्रकाश , सुरेश साहू की महत्वपूर्ण भूमिका रही। हम आपको बता दें कि महासमुन्द जिले के वनांचल इलाके में जंगली जानवरों के शिकार के रोज नए मामले सामने आ रहे हैं लेकिन जंगली जानवरों का शिकार रोकने की दिशा में वन विभाग की टीम कोई ठोस और कारगर कदम नहीं उठा पा रहा है ऐसे में वन्य प्राणियों के संरक्षण और संवर्धन की दिशा में उठाए जा रहे तमाम उपायों पर पानी फिरता नजर आ रहा है।

बाईट- रामलाल व्यवहार वन क्षेत्रपाल सरायपाली

रिपोर्ट – किशोर कर महासमुंद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *