Wednesday, July 24

श्रीरामलला दर्शन के लिए 850 तीर्थयात्री के साथ दुर्ग से चौथी स्पेशल ट्रेन से हुई रवाना

उपमुख्यमंत्री अरुण साव, विजय शर्मा, वन मंत्री केदार कश्यप और विधायकों ने ट्रेन को दिखाई हरी झण्डी

दुर्ग। छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी श्री रामलला दर्शन योजना के तहत बुधवार 26 जून को दुर्ग संभाग और बस्तर संभाग के 850 श्रद्धालुजन दुर्ग से स्पेशल ट्रेन में अयोध्या धाम के लिए रवाना हुए। दुर्ग रेल्वे स्टेशन के प्लेटफार्म नं. 1 से इस स्पेशल ट्रेन को दोपहर 12.15 बजे प्रदेश के उपमुख्यमंत्री द्वय श्री अरूण साव एवं श्री विजय शर्मा, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री केदार कश्यप और विधायक सर्व श्री डोमनलाल कोरसेवाड़ा, श्री ललित चंद्राकर, श्री गजेन्द्र यादव व श्री रिकेश सेन ने हरी झण्डी दिखाकर गंतव्य के लिए रवाना किया। तीर्थयात्रा में शामिल श्रद्धालुजन काफी उत्साहित थे। प्लेटफार्म नं. 1 पर श्री राम-लक्ष्मण एवं हनुमान की झांकी और पंथी नृतक दलों की करतल ध्वनि के साथ छत्तीसगढ़ के भाचा राम, जय सियाराम-जय सियाराम की ध्वनि गुंजायमान हो रही थी। दुर्ग संभाग के आयुक्त श्री सत्यनारायण राठौर, आईजी श्री आर.जी. गर्ग, कलेक्टर सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी, एसपी श्री जितेन्द्र शुक्ला, छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के उप महाप्रबंधक श्री संदीप ठाकुर एवं अन्य अधिकारी, इंडियन रेलवे कैटरिंग एण्ड टूरिज्म कार्पोरेशन के अधिकारी-कर्मचारी, स्थानीय जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में नगरवासी मौजूद थे।

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री श्री अरूण साव ने कहा कि छत्तीसगढ़ भगवान श्री राम का ननिहाल है। आप सभी श्री रामलला के दर्शन हेतु अयोध्या धाम जा रहे है। सभी श्रद्धालुगण छत्तीसगढ़ के विकास के लिए भगवान श्रीराम से आशीर्वाद लेकर आएंगे। उन्होेंने तीर्थयात्रियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की एक और गारंटी को छत्तीसगढ़ की विष्णुदेव सरकार सबका साथ सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास के ध्येय वाक्य के साथ पूरी करने जा रही है। उपमुख्यमंत्री तथा दुर्ग जिले के प्रभारी मंत्री श्री विजय शर्मा ने कहा कि 500 वर्षों के संघर्ष के बाद अयोध्या धाम में श्री रामलला का मंदिर बना है। उन्होंने कहा कि यह बड़ी विडंबना है कि विदेशों में मंदिर बन गए लेकिन भारत देश में इसको बनने में 500 वर्ष लग गए। केंद्र सरकार की दृढ़ इच्छा शक्ति से यह कार्य हुआ है।

गौरतलब है कि प्रदेशवासियों को उनके जीवन काल में एक बार श्री रामलला दर्शन (अयोध्या धाम) कराये जाने की राज्य सरकार की घोषणा अनुसार 23 फरवरी 2024 को छत्तीसगढ़ टूरिज्म बोर्ड तथा इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन के मध्य एमओयू संपादित किया गया। योजना का शुभारंभ रायपुर रेल्वे स्टेशन से 05 मार्च 2024 को मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय द्वारा वरिष्ठ मंत्रिगणों, जनप्रतिनिधियों आदि की उपस्थिति में इस स्पेशल ट्रेन को हरी झंडी दिखा कर किया गया। तद्उपरांत 11 मार्च को बिलासपुर संभाग, 19 जून को सरगुजा संभाग के 850-850 यात्रियों को रवाना किया गया। इसी क्रम में 26 जून 2024 को संयुक्त रूप से दुर्ग तथा बस्तर संभाग के 850 यात्रियों को अयोध्या रवाना किया गया है। श्रीराम रामलला दर्शन योजना अंतर्गत अयोध्या धाम के लिये यह स्पेशल साप्ताहिक ट्रेन रायपुर, बिलासपुर, सरगुजा, बस्तर दुर्ग (संयुक्त) संभाग के यात्रियों को श्री रामलला अयोध्या धाम दर्शन के लिये निरंतर जारी रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *