31जनवरी से 3 फरवरी तक गिधवा में होगा प्रदेश का पहला 3 दिनी ‘बर्ड फेस्टिवल’ पिनटेल मैराथन के साथ होगा फोटोग्राफी स्पर्धा


बिलासपुर (अमित मिश्रा IMNB न्यूज़) डेढ़ सौ से ज्यादा प्रजाति के पक्षियों की पनाहगाह गिधवा और परसदा गांव में छत्तीसगढ़ राज्य का पहला ‘ बर्ड फेस्टिवल’ आगामी 31 जनवरी 21 को प्रारम्भ होने जा रहा है जो तीन दिन तक चलेगा, जिसका आयोजन दुर्ग वन संभाग के बेमेतरा जिला द्वारा किया जा रहा है आयोजन की तैयारी जोर शोर से की जा रही है।
तीन दिन चलनी वाली बर्ड फेस्टिवल का पंजीयन ऑन लाइन वन विभाग के दुर्ग डिवीजन में किया जा रहा है। विभाग और उसकी सहयोगी संस्था क्रो फाउंडेशन नोवानेचर वाइल्डलाइफ वेलफेयर के द्वारा विभिन्न प्रकार के आयोजन किए जाएंगे जिसमें विशेषज्ञों के द्वारा अलग अलग विषयों पर ब्यख्यान किए जाएंगे ,स्कुली बच्चों के लिए गिधवा से परसदा तक “पिनटेल मैराथन” का आयोजन किया जायेगा, साथ ही प्रतिदिन शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं लाइव फोटोग्राफी प्रतियोगिता का आयोजन भी किया जाएगा और विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कार वितरण के साथ महोत्सव का समापन कय्या जाएगा।
गिधवा और परसदा नांदघाट से मुंगेली जाने वाली सड़क से 8वे कि.मी. पर स्थित है जहां क्रमशः 100 -125 एकड़ का जल भराव वाला जलाशय है। यह क्षेत्र प्रवासी पक्षियों का अघोषित अभ्यारण्य माना जाता है।
सर्दियों की दस्तक के साथ अक्टूबर से मार्च के बीच यहां यूरोप, मंगोलिया, बर्मा और बंग्लादेश से जलीय पक्षियों का आगमन होता है। जलाशय की मछलियां ,गांव की हम भूमि और जैव विविधता इन पक्षियों को आकर्षित करती हैं। दोनों जगहों पर वाटर बॉडी में गैन्डवाल,नार्दन पिनटेल रेड क्रेस्टेड पोचार्ड, कामन पोचार्ड ,मार्श,सेंड पाइपर, कॉमन सेंड पाइपर ,कॉमन ग्रीन शेंक, कॉमन रेड शेंक आदि जलीय और थलीय पक्षियां हजारों की तादात में कलरव करते है।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *