छत्तीसगढ़ में तत्काल मेडिकल इमरजेंसी/चिकित्सा आपातकाल लागू के साथ टोटल लॉकडाउन करें सरकार – अमित जोगी


रायपुर में COVID-19 की R_O (बेसिक रिप्रोडक्टिव रेट) मात्र 7 दिनों में 0.7 से 7 पार कर चुकी है जो अपने आप में वर्ल्ड रिकार्ड है।लॉक-डाउन के दौरान सभी राशन कार्ड धारियों को 6000/- प्रतिमाह दिया जाए ।कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अमित जोगी ने रखी 4 मांगे ।

रायपुर, छत्तीसगढ़, दिनांक 16 सितंबर 2020। जनता काँग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश अध्यक्ष श्री अमित जोगी ने कहा कोरोना कैपिटल रायपुर में COVID-19 की R_O मतलब बेसिक रिप्रोडक्टिव रेट मात्र 7 दिनों में 0.7 से 7 पार कर चुकी है जो अपने आप में वर्ल्ड रिकार्ड है। R ये बताता है कि संक्रमण कितनी गति से फैल रहा है। R=7 का मतलब एक संक्रमित व्यक्ति 7 लोगों को संक्रमित कर रहा है जबकि कोरोना महामारी के चरम में भी इटली के लोमबारडी और अमरीका के न्यू यॉर्क में R=5.6 से ज़्यादा नहीं बढ़ा था। ऐसे में छत्तीसगढ़ में अगले 30 दिनों में 1-2 लाख लोग गम्भीर रूप से संक्रमित होने की संभावना हैं जबकि प्रदेश में उपचार क्षमता इसकी 5% भी नहीं है। यह राज्य की काँग्रेस सरकार के 13 कोरोना वॉरीअर्ज़ और केंद्र की भाजपा सरकार दोनों की विफलता का अब तक का सबसे बड़ा प्रमाण है।

अमित जोगी ने कहा राजनीति अपनी जगह है लेकिन छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में महामारी को रोकने के लिए मेडिकल इमरजेंसी (चिकित्सा आपातकाल) लागू करने के साथ टोटल लॉकडाउन करने के अलावा अब भूपेशसरकार के पास कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा है।

अमित जोगी ने कहा लॉक डाउन के दौरान सभी राशन कार्ड धारियों को प्रतिमाह 6000/- भी प्रदान किया जाए ताकि विपरीत परिस्थितियों मे लोगों को थोड़ी सी राहत मिलें।
अमित जोगी ने छत्तीसगढ़ में टोटल लॉकडाउन साथ ही कोरोना मेडिकल इमरजेंसी पर तत्काल यह निर्णय लेने का भी मांग सरकार से किया है :-

1. सभी अस्पतालों में कोरोना मरीजों का फ्री में इलाज।

2. रोकथाम के लिए 100000 निःशुल्क टेस्ट प्रतिदिन।

3. मृतक के परिवार वालों को 10 लाख रूपये का मुआवजा।

4. लॉक-डाउन के दौरान सभी राशन कार्ड धारियों को 6000/- प्रतिमाह दिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *