समय आपका है चाहे तो सोना बना लो या सोने में गुजार दो – नीता डुमरे

शहर की अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी सुश्री नीता डुमरे आज रोटरी क्लब की वर्चुअल बैठक मे अतिथि प्रवक्ता के रूप मे उपस्थित हुई । फिजिकल फिटनेस व इम्युनिटी पर अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि हमें 1000 से 10000 कदम प्रतिदिन पैदल चलने के साथ ही साथ योगाभ्यास को भी अपनी दिनचर्या का नियमित अंग बनाना जरूरी है। मेरे अंतराष्ट्रीय खेल के दौरान एक बार मैंने एक चाइनीस खिलाड़ी को योगा करते देखा था और उससे इसके फायदे जाने तब से मैंने योग करना शुरू किया जो आज भी मेरे प्रतिदिन की दिनचर्या में शामिल है । वर्तमान में हम अपने पारंपरिक जीवनशैली को छोड़कर पाश्चात्य शैली अपना रहे हैं । यदि रोज हम पैदल चलना , खेलना , हंसना व सप्ताह में कम से कम एक दिन या एक वक्त निराहार रहने की आदत डाल लें तो हमारे स्वास्थ्य में बहुत सुधार हो सकता है । फिजिकल अनफिट होना , अपने मनमस्तिष्क पर अपना सयम नही होना , चिड़चिड़ापन स्वभाव हमारी इम्युनिटी को कम करता है । कोरोना संक्रमण काल के लाकडाउन का समय आपका है चाहे तो आप इसे सोना बना लो या सोने में बीता दो ।
रोटरी क्लब के वर्चुअल बैठक का संचालन अध्यक्ष रोटे डॉ प्रीता लाल ने किया । क्लब के सदस्यों के द्वारा एक मिनट का मौन रखकर कोरोना से दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए प्रार्थना की गई । सचिव रोटे प्रदीप गोविंद शितूत ने मुख्य अतिथि का जीवन परिचय कराते हुये बताया कि छत्तीसगढ़ की लाडली बेटी सुश्री नीता डुमरे ना सिर्फ एक अंतरराष्ट्रीय हाकी खिलाड़ी है बल्कि अनेक संस्थाओं से जुडकर सामाजिक सेवा में भी अग्रणी भूमिका निभाती है ।रोटे नरेंद्र सिंह भदौरिया जी ने आभार प्रकट किया । इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष रोटे शेखर रावसाहेब अमीन , रोटे राजेन्द्र चांडक , रोटे डॉ मनीषा गर्ग , रोटे एन सी मोरयानी , रोटे डॉ इंदिरा मिश्र , रोटे आलोक पाटनी , आदि उपस्थित थे ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *