Monday, April 15

इंदिरा जी ने देश की एकता अखंडता और उन्नति के लिए अपना जीवन समर्पित किया

0 इंदिरा जी अबूझमाडिय़ों के बीच पहुंचकर एक मिसाल कायम की : राजीव शर्मा

जगदलपुर। देश की एकमात्र महिला प्रधानमत्री भारत रत्न श्रीमती इंदिरा गांधी की जयंती पर जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष एवं ईंद्रावती विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष राजीव शर्मा ने अपने उद्धबोधन में कहा कि भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी एक अजीम शख्यियत थीं। उनके अंदर गजब की राजनीतिक दूरदर्शिता थी इंदिरा का जन्म 19 नवंबर, 1917 को हुआ पिता जवाहर लाल नेहरू आजादी की लड़ाई का नेतृत्व करने वालों में शामिल थे वही दौर रहा, जब 1919 में उनका परिवार बापू के सानिध्य में आया और इंदिरा ने पिता नेहरू से राजनीति का ककहरा सीखा। प्रियदर्शनीय को दृढ़ निश्चय साहसपूर्ण पहल और देश के हित में सर्वोच्च त्याग एवं बलिदान के लिए सदैव याद किया जाता रहेगा। उन्होंने लंबी अवधि के दौरान अनेक ऐतिहासिक निर्णय लिए जैसे बैंकों का राष्ट्रीयकरण, प्रीवियस की समाप्ति, सहित गरीबी हटाओ एवं हरित क्रांति कार्यक्रम इनकी महत्वपूर्ण देन है इनके द्वारा प्रारंभ किया गया 20 सूत्री कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य गरीब वर्ग के लोगों के पिछड़ेपन में सुधार लाकर उनके जीवन स्तर को ऊंचा उठाना था वे प्रतिक्रियावादियों की विरोधी थी और राष्ट्रीय सामंजस्य के लिए सदैव प्रयत्नशील रहती थी। उल्लेखनीय है कि अपने प्रधानमत्री काल में श्रीमती इंदिरा गांधी अबूझमाड़ के ओरछा विकासखंड में अबूझमाडिय़ों के बीच पहुंचकर एक मिसाल कायम की थी। बस्तर संभाग के नारायणपुर जिले में प्रथम अवसर था जब देश का प्रधानमंत्री अबूझमाडिय़ों के बीच आया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *