भय, कुंठा एवं हताशा से वशीभूत भूपेश सरकार ऋचा जोगी के जाति प्रमाण बनने मात्र से ही हिल गई है, रिजवी

रायपुर 09/10/2020। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख, मध्यप्रदेश पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष, पूर्व उपमहापौर तथा वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने कहा है कि मरवाही उपचुनाव कांग्रेस के लिए वाटरलू सिद्ध होने वाला है। इसी भय, कुंठा एवं हताशा के वशीभूत भूपेश सरकार ऋचा जोगी के जाति प्रमाण बनने मात्र से ही हिल गई है, इसीलिए कांग्रेस पराजय के भय से पूर्व विधायक अमित जोगी एवं उनकी पत्नी ऋचा जोगी द्वारा मरवाही उपचुनाव में उम्मीदवार बनने की राह में अवरोध उत्पन्न करने तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है जो यह सिद्ध करता है कि जकांछ से कोई भी उम्मीदवार बने उसकी जीत सुनिश्चित है।
रिजवी ने मरवाही चुनाव में अव्यवहारिक व्यवधान उत्पन्न करने वाले कांग्रेसियों को स्मरण दिलाते हुए कहा है कि कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी ने स्व. अजीत जोगी को आदिवासी होने के नाते ही नवनिर्मित छत्तीसगढ़ राज्य का प्रथम मुख्यमंत्री बनाया था। आज जो लोग जोगी परिवार के जाति प्रमाण पत्र के मुद्दे उठा रहे हैं वे उस समय श्रीमती गांधी के निर्णय के सामने नतमस्तक थे। कांग्रेस नेतागण आज जो जाति प्रमाण पत्र का मुद्दा स्वार्थसिद्धि के लिए उछाल रहे हैं वे श्रीमती सोनिया गांधी से जवाब तलब करें तो ज्यादा उपयुक्त होगा। श्रीमती गांधी के उक्त निर्णय के विरूद्ध आज अनुशासन की कार्यवाही करने की किसी भी कांग्रेसी में हिम्मत है क्या? इस संदर्भ में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल एवं प्रदेश अध्यक्ष श्री मोहन मरकाम में श्रीमती गांधी के निर्णय के विरूद्ध आवाज उठाने की हिम्मत नहीं है। अब तो कांग्रेस के समक्ष मरवाही चुनाव में जमानत बचाने का मुद्दा ही शेष है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *