खुरमुड़ा हत्याकांड –  सीबीआई जांच की  मांग – अमित जोगी, पीड़ित/आश्रित 4 नाबालिग को 4 माह का विधायक पेंशन देने की घोषणा, भूपेश राज में शांति का टापू छत्तीसगढ़, बन गया अपराध का टापू – अमित जोगी ग्रामीणों ने बताया खुरमुड़ा अपराध का केंद्र, शराबखोरी से बढ़ा है चोरी और अपराध। शिकायत के बावजूद पुलिस की उदासीनता से अपराधियों के हौसले बुलंद, परिणाम खुरमुड़ा हत्याकांड

 ✍🏻 रायपुर, छत्तीसगढ़,दिनांक 22 दिसंबर 2020। राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री स्व अजीत जोगी के सुपुत्र, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व विधायक श्री अमित जोगी आज दुर्ग जिला स्थित ग्राम  खुरमुड़ा पहुंचे जहां उन्होंने खुरमुड़ा  हत्याकांड में एक ही परिवार के 4 सदस्यों की हत्या होने के बाद  पीड़ित और आश्रित परिवार वालों से मिले। इस दौरान सरपंच श्री धर्मेंद्र सोनकर व ग्रामीणों ने आश्रितों के साथ आपबीती और गांव की समस्याओं से अमित जोगी को अवगत कराया।
ग्रामीणों  व आश्रित परिवार से भेंट अमित जोगी ने खुरमुड़ा हत्याकांड की सीबीआई से जांच की मांग करते हुए कहा छत्तीसगढ़ में अराजकता आ गई है, भूपेश राज्य में अपराधियों को खुली छूट मिल गई है इसलिए खुरमुड़ा जैसी बारदात हुई । अमित जोगी ने कहा जब मुख्यमंत्री जी के विधानसभा क्षेत्र का यह हाल है तो छत्तीसगढ़ का क्या होगा अंदाज लगाया जा सकता है। छत्तीसगढ़ के कोने कोने में शहर से लेकर गांव तक अपराधी अपना पैर पसार रहे है  और लगातार अपराध को अंजाम दे रहे हैं। भूपेश राज में आम जनता अपने आप को  डरा, सहमा और असुरक्षित महसूस कर रहा  है।
 अमित जोगी ने कहा छत्तीसगढ़ की ढाई करोड़ जनता ने श्री भूपेश बघेल को इसलिए सत्ता नहीं सौंपा था की शांति के टापू छत्तीसगढ़ को अपराध का टापू बनाएं।
सरपंच धर्मेंद्र सोनकर व ग्रामीणों ने अमित जोगी बताया खुरमुड़ा अपराध का केंद्र बन चुका है जहां पर आए दिन किसानों के पंप, केबल और बिजली वायर  की लगातार चोरी होती रहती है इसी तरह गांव के आसपास ही शराब की भट्टियां होने से असामाजिक तत्वों के द्वारा नशापान कर ग्रामीणों को आतंकित करते हैं और इससे अपराध को बढ़ावा मिलता है। जिसकी शिकायत स्थानीय सरपंच एवं ग्रामीणों ने पुलिस को अनेकों बार किया और लगातार पेट्रोलिंग करने का भी आग्रह किया लेकिन पुलिस के उदासीनता के कारण आज क्षेत्र में अपराध नहीं रुका और अंततः एक ही परिवारों के 4 लोगों की जान चली गई और 4 बच्चे अनाथ हो गए जिसके लिए सरकार जिम्मेदार है।
अमित जोगी ने पीड़ित और आश्रित 4 नाबालिक बच्चों को 4 माह का विधायक पेंशन एफडी देने की घोषणा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *