किकबॉक्सिंग को केंद्र सरकार व ओलंपिक महासंघ की मान्यता, छत्तीसगढ़ के खिलाड़ियों का भविष्य उज्ज्वल

  • जेएसपीएल फाउंडेशन के प्रोत्साहन से किकबॉक्सिंग में रायगढ़ के अनेक खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय स्तर पर किया है नाम रोशन
  • 2024 के तोक्यो ओलंपिक में ट्रायल के लिए हो सकता है चयन, 2028 में किकबॉक्सिंग ओलंपिक नियमित खेल बन जाएगा
  • किकबॉक्सिंग के खिलाड़ियों को भी अन्य मान्यता प्राप्त खेलों की तरह मिलेगा प्रोत्साहन, नौकरियों में भी मिलेगी प्राथमिकता

रायपुर, 5 जुलाई 2021 – केंद्रीय युवा मामलों और खेल मंत्रालय ने वर्ल्ड एसोसिएशन ऑफ किकबॉक्सिंग ऑर्गेनाइजेशन (वाको) की भारतीय शाखा को “किकबॉक्सिंग खेल” की अधिकृत राष्ट्रीय संस्था के रूप में मान्यता दे दी है। इसके साथ ही किकबॉक्सिंग को अन्य मान्यता प्राप्त खेलों की तरह ही सरकार की ओर से सुविधाएं मिलनी शुरू हो जाएंगी और खिलाड़ियों को सरकारी नौकरियों में प्राथमिकता मिलने लगेगी। जाने-माने उद्योगपति श्री नवीन जिन्दल के नेतृत्व में जिन्दल स्टील एंड पावर लिमिटेड (जेएसपीएल) की सेवा शाखा श्रीमती शालू जिन्दल के नेतृत्व वाले जेएसपीएल फाउंडेशन ने इस खेल को प्रोत्साहित किया है और जिसके परिणामस्वरूप छत्तीसगढ़ के अनेक खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन कर चुके हैं।

वाको इंडिया- छत्तीसगढ़ के सचिव तारकेश मिश्रा और संयुक्त सचिव अमरदीप सिंह ने बताया कि इसी साल 10 जून अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक महासंघ ने वाको को किकबॉक्सिंग प्रोत्साहित करने वाली अंतरराष्ट्रीय खेल खेल संस्था के रूप में मान्यता दे दी है। इस तरह अब किकबॉक्सिंग का ओलंपिक खेलों में शामिल होने का रास्ता साफ हो गया है।

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और खेल मंत्री श्री किरेन रिजीजू को धन्यवाद करते हुए उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने किकबॉक्सिंग को प्रोत्साहित करने के लिए वाको इंडिया को जो मान्यता दी है, उससे देश में पावर गेम्स को प्रोत्साहित करने में मदद मिलेगी। उन्होंने वाको इंडिया किकबॉक्सिंग फेडरेशन के अध्यक्ष श्री संतोष कुमार अग्रवाल को धन्यवाद करते हुए उम्मीद जताई कि भारतीय खिलाड़ी आने वाले समय में निश्चित रूप से देश का नाम पूरी दुनिया में रोशन करेंगे।

गौरतलब है कि जेएसपीएल फाउंडेशन ने रायगढ़ में अनेक किकबॉक्सिंग खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया है जिनमें अमरदीप सिंह के साथ-साथ ममता सिंह ठाकुर ने राष्ट्रीय स्तर पर शानदार प्रदर्शन किया है। इन दोनों ही प्रतिभाओं ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ-साथ किकबॉक्सिंग को भी प्रोत्साहित किया है और अमरदीप सिंह पिछले 8 वर्षों से नई प्रतिभाओं को आगे लाने का काम कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *