Tuesday, July 16

रथयात्रा के दिन इंद्रावती नदी पर होगी महाआरती

कलेक्टर ने ली सपताहिक समय सीमा की बैठक, अधिकारियों को दिए अवश्यक दिशा निर्देश

बीजापुर। कलेक्टर अनुराग पाण्डेय ने इंद्रावती सभाकक्ष में साप्ताहिक समय सीमा की समीक्षा बैठक ली, सभी विभागों की समीक्षा करते हुए ग्रामिणों को ज्यादा से ज्यादा शासकीय योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया।

बीजापुर जिला में पहली बार 7 जून को रथयात्रा के उपलक्ष में इंद्रावती नदी के तिमेड़ घाट में महाआरती का आयोजन किया जाएगा। कलेक्टर ने कहा कि इस महाआरती का उद्देश्य नदियों की महत्ता को समझते हुए पर्यावरण का संरक्षण और स्वच्छता को बढ़ावा देना है। जलाशय हो या आसपास के जंगल सभी को स्वच्छ रखना चाहिए ताकि स्वच्छ वातावरण में हमारा समाज रह सके। गंगा आरती के समान इंद्रावती नदी की आरती के लिए कलेक्टर ने सभी नागरिकों से आग्रह किया कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में लोग इस आयोजन में शामिल होकर अपनी सहभागिता निभाये।

शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि छात्रावास, आश्रम और स्कुलों का नियमित निरीक्षण कर व्यवस्थाओं की जाच करें। मीनू के अनुसार बच्चों को सम्पूर्ण पोषक आहार मध्यान भोजन में नहीं देने वाले समूहों की राशि में कटौती करने की बात कलेक्टर ने कहीं साथ ही उन्होनें अनुपस्थित शिक्षकों पर कड़ी कार्यवाही की चेतावनी दी। माननीय मुख्यमंत्री जी ने बस्तर अंचल के तेंदूपत्ता संग्राहकों की आग्रह स्वीकार करते हुए उन्हें पारिश्रमिक राशि का नकद भुगतान करने का निर्णय लिया हैं जिसके तहत बीजापुर जिले की 28 समितियों के तेंदूपत्ता संग्राहकों को पारिश्रमिक राशि का नकद भुगतान किया जा रहा है, जिला प्रशासन की विशेष पहल से लोगों को बैंक खाता खुलावाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है लिफाफा में लोगों को महत्वपूर्ण सूचना दी जा रही है कि आगामी वर्ष 2025 से भुगतान हेतु आधार नंबर एवं बैंक खाता अनिवार्य होगा। जिले में 15 अगस्त के दिन हर गांव एवं नगरीय-निकायों में तिरंगा झंण्डा फहराने के लिए कलेक्टर ने लोगों को 5000 से अधीक झंण्डा उपलब्ध कराने अधिकारियों को निर्देश दिए। साथ ही बरसात के दिनों में बारिश के कारण सड़क, पुल-पुलिया छतिग्रस्त होती है तो जिसके लिए सिमेंट, पाईप आदि की अग्रिम व्यवस्था करने पीएमजीएसवाय को कलेक्टर ने निर्देशित किया ताकि लोगों को कोई समस्या का सामना ना करना पड़े।

बच्चों में डायरिया से होने वाली मृत्यु की रोकथाम के उदे्श्य से ‘‘स्टाॅप डायरिया अभियान 2024‘‘ का कार्यक्रम 1 जुलाई से 31 अगस्त तक अयोजित किया जाएगा। जिसके लिए विभिन्न गतिविधियों की जानकारी स्वास्थ्य विभाग ने दी। कलेक्टर ने लोगों को पानी उबालकर पीने और बच्चों को स्वच्छ जल उपलब्ध कराने की बात कहीं।

बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री हेमंत रमेश नंदनवार, एसडीएम श्री जागेश्वर कौशल, उत्तम सिंह पंचारी, श्री दिलीप उईके, श्री विकास सर्वे सहित समस्त अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *