महासमुंद ,दुर्लभ प्रजाति का वन्यजीव पैंगोलिन(वज्रशल्क) की तस्करी करते 4 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार ब्यूरो चीफ किशोर कर की रिपोर्ट

 

किशोर कर ब्यूरोचीफ महासमुंद

दुर्लभ प्रजाति का वन्यजीव पैंगोलिन(वज्रशल्क) की तस्करी करते 4 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

आरोपियों से महिन्द्रा स्कार्पियों कार एवं 01 नग तौल मशीन जप्त

महासमुन्द – जिला महासमुन्द के नवपदस्थ पुलिस अधीक्षक दिव्यांग कुमार पटेल द्वारा कार्यभार सम्भालते ही समस्त थाना प्रभारियों की मीटिंग लेकर जिले में संदिग्ध गतिविधियों, अवैध शराब, अवैध मादक पदार्थ गांजा एवं समस्त प्रकार की तस्करी की रोकथाम कर कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया था इसी निर्देशों के परिपालन के दौरान मुखबीर से सूचना मिली कि खल्लारी क्षेत्र में कुछ लोगो द्वारा दुर्लभ प्रजाति वन्यजीव जन्तु पैंगोलिन को पकड़कर अवैध रूप से उसकी तस्करी कर बेचने की फिराक में है। उक्त सूचना पर पुलिस की टीम के द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुये बोईर गाॅंव खल्लारी के पास पहुच कर नाकाबंदी किया गया जहाॅ एक सफेद रंग की महिन्द्रा स्कार्पियों क्रमांक CG 04 HU 2091 आती दिखी जिसे रोककर पूछताछ पर स्कार्पियो में 04 लोग बैठे मिले कार चालक ने अपना नाम डागेश्वर साहू सिवनीकला थाना कुरुद जिला धमतरी हाल लालपुर रायपुर बताया एवं खोमन दीवान लोहारगांव थाना खल्लारी जिला महासमुन्द, ओमप्रकाश थवाईत अंवराडबरी थाना खल्लारी जिला महासमुन्द, रमेश मिश्रा प्रोफेशर कालोनी सेक्टर 03 रायपुर थाना पुरानीबस्ती रायपुर निवासी होना बताये, वाहन की तलाशी लेने पर वाहन के बीच वाली सीट के नीचे एक जूट की बोरी में दुर्लभ प्रजाती के वन्य जीव पैंगोलिन भरा हुआ मिला। उक्त चारों व्यक्तिओें से कड़ाई से पूछताछ करने पर बताये कि सोरम-सिंघी एवं लोहार गांव के जंगल से पैंगोलिन को जाल लगाकर फसा कर खोमन दीवान रखा था और उसे बेचने के फिराक में रायपुर वाले रमेश मिश्रा, डागेश्वर साहू, से संपर्क कर और ओम प्रकाश को सहयोगी के रूप में ग्राहक तलाशने रायपुर की ओर जा रहे थे। मामले में आरोपियों के खिलाफ वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 09, 39, 51 के तहत् अपराध पंजीबद्ध किया गया है एवं वन विभाग को भी सूचना दी गई है। हम आपको बता दें कि पैंगोलिन एक अत्यंत दुर्लभ प्रजाति का वन्यजीव है। जिसें सालखपरी व वज्रशल्क के नाम से भी जाना जाता है, जोकि हमेश ही विभिन्न भ्रांतिओं के कारण तस्करी का शिकार होता रहा है। जिसकी भारत सहित पूरे विश्व में तस्करी की जाती है। महासमुन्द पुलिस की इस कार्यावाही की वन्यजीव प्रेमी एंव पर्यावरण संरक्षणकर्ता के साथ-साथ आम नागरिको ने भी इसकी सराहना की है ।यह सम्पूर्ण कार्यवाही पुलिस अधीक्षक महासमुन्द दिव्यांग कुमार पटेल के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मेघा टेम्भुरकर साहू एवं एसडीओपी महासमुन्द नारद सूर्यवंशी के निर्देशन में सायबर सेल महासमुन्द प्रभारी उनि. संजय सिंह राजपूत, थाना प्रभारी खल्लारी उनि. विनोद नेताम, प्रआर. श्रवण कुमार दास, मिनेश ध्रुव द्वारा की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *