गांजा तस्करी के अंतर्राज्यीय रैकेट का महासमुंद पुलिस ने किया पर्दाफाश, एक करोड़ 60 लाख का 8 क्विंटल गांजा जब्त

 

किशोर कर ब्यूरोचीफ महासमुंद

गांजा तस्करी के अंतर्राज्यीय रैकेट का महासमुंद पुलिस ने किया पर्दाफाश, एक करोड़ 60 लाख का 8 क्विंटल गांजा जब्त

पिक अप वाहन और कार को भी पुलिस ने किया जप्त, चार गांजा तस्करों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

उड़ीसा से महाराष्ट्र तक कर रहे थे गांजा की तस्करी

महासमुन्द – महासमुंद जिला पुलिस ने गाजा तस्करी के एक बड़े मामले में आरोपियों को गिरफ्तार किया है आरोपियों के कब्जे से एक करोड़ 60 लाख रुपए के 8 कुंटल गांजा को भी जप्त किया गया गांजा तस्करी के इस मामले में एक बोलेरो पिकअप वाहन और हुंडई कार को भी जप्त करने में पुलिस को कामयाबी मिली है महासमुंद जिला पुलिस अधीक्षक ने बताया है कि पड़ोसी प्रांत उड़ीसा से महाराष्ट्र तक गांजा की तस्करी की जा रही थी जिसे वाहन चेकिंग के दौरान मुखबिर की सूचना के आधार पर पकड़ा गया है।
अंतर राज्य गांजा तस्करी के इस मामले को लेकर मिली जानकारी के अनुसार पुलिस अधीक्षक दिव्यांग कुमार पटेल के निर्देश पर राष्ट्रीय राजमार्गों पर वाहनों की सघन जांच की जा रही थी इसी दौरान नेशनल हाईवे 353 पर चेकिंग पॉइंट एक बोलेरो पिक अप वाहन तेज रफ्तार से आ आता जिसे रोका गया और वाहन चालक वाहन में बैठा मिला जितने नाम पता पूछने पर उसने संजय संभल ग्राम संघ ना पोस्ट जय चंद्रपुर केंद्रपाड़ा उड़ीसा का रहने वाला बताया वाहन को महाराष्ट्र ले जा रहा था जिसके बारे में पूछताछ करने पर गोलमोल जवाब देने लगा जिस पर कोमाखान की पुलिस टीम को शक होने पर वाहन की तलाशी ली तब वाहन के पीछे बोरियों में पत्ता गोभी और आलू भरा मिला जिसके आधार पर वाहन की तलाशी ली गई जिसमें नीचे प्लास्टिक के 15 बोरियों में मादक पदार्थ गांजा भरा हुआ था गांजा मिलने के बाद पुलिस ने मौके पर ही वाहन चालक को गिरफ्तार कर लिया और उसके कब्जे से 7 क्विंटल मादक पदार्थ गांजा जब तक कर उसके खिलाफ नारकोटिक्स एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया इस घटना में आरोपी संजय सामल ने पुलिस को बताया कि कुछ लोग कार से भी गाजा परिवहन कर रहे हैं आरोपी के बताए अनुसार खरियार रोड सीमा के निकट चेकिंग पॉइंट पर एक हुंडई कार को रोककर पुलिस द्वारा पूछताछ की गई जिसमें 3 व्यक्ति सवार मिले एक व्यक्ति ने अपना नाम चिन्मय साहनी दूसरे ने अपना नाम ही शंकर तथा तीसरे ने नीलेश बैरागी नाम बताया जो ओडिशा और महाराष्ट्र के रहने वाले थे कार की तलाशी पुलिस द्वारा ली गई जिसमें कार की डिक्की में 50 पैकेट लगभग 1 क्विंटल गांजा भरा हुआ था तीनों तीनों आरोपियों के खिलाफ नारकोटिक्स एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर कार्यवाही की जा रही है हम आपको बता दें कि महासमुंद पुलिस अधीक्षक दिव्यांग कुमार पटेल के मार्गदर्शन में पुलिस एसडीओपी बागबाहरा सुश्री लितेश सिंह के निर्देशन में कोमाखान थाना प्रभारी निरीक्षक सिद्धेश्वर प्रताप सिंह सहायक उप निरीक्षक रनशाय मिरी सहित पुलिस स्टाफ द्वारा गांजा तस्करी के इस अंतर राज्यीय रैकेट का पर्दाफाश किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *