प्रदेश में हत्याकांड,विपक्ष हुआ मुखर,हंगामा

 

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज अध्यक्ष और विपक्ष के बीच हुई बहस से माहौल गरमा गया।भाजपा विधायक दल ने बठेना हत्याकांड का मुद्दा उठाया। भाजपा सदस्य बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि राज्य में लगातार कानून व्यवस्था बिगड़ी हुई है। भय व्याप्त है, पुलिस असफल है। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत द्वारा सदन की कार्यवाही का संचालन शुरू करने पर भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने खड़े होकर कानून व्यवस्था का मुद्दा उठाया। उन्होंने बठेना हत्याकांड का जिक्र करते हुए कहा कि लगातार घटनाएं हो रही हैं और पुलिस किसी जांच पर नहीं पहुंच पा रही। इसके पहले भी घटनाएं हुई उनका कोई खुलासा अभी तक नहीं हो सका है। सत्ता पक्ष के सदस्यों ने कहा कि गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू इसका संज्ञान ले रहे हैं और जल्द ही मामला सामने आएगा। आसंदी ने भी कहा कि गृहमंत्री बयान देंगे लेकिन भाजपा सदस्य जोर जोर से बोलने लगे। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार किसी मुद्दे पर चर्चा ही नहीं चाहती। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि हत्याकांड से पूरे राज्य में आतंक का माहौल है, पुलिस – प्रशासन अपने काम छोड़कर बाकी सब काम कर रहे हैं। विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने कार्यवाही आगे बढ़ाते हुए जनता कांग्रेस के विधायक धर्मजीत सिंह को बोलने के लिए कहा। इस पर श्री सिंह ने विषय को बदलते हुए किसी अन्य मुद्दे पर ध्यान रखना चाहा, लेकिन भाजपा विधायक दल नाराज हो गया और वह जोर-जोर से बोलने लगा और आसन्दी पर टिप्पणी की। विधानसभा अध्यक्ष ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि सदन में हर बार व्यवधान करना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि मेरी संसदीय कार्यवाही और ज्ञान पर सवाल खड़े न खड़े किए जाएं। मंत्री रहा हूं, सांसद रहा हूं और मुझे भी मालूम है कि सदन कैसे चलाया जाएगा। इस पर भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल और स्पीकर डॉ. महंत के बीच जोरदार बहस हुई। भाजपा विधायक दल ने कहा कि आसन्दी को इस तरह बात नहीं करना चाहिए। खासकर आसंदी को आसंदी के प्रति सम्मान और आसंदी को विपक्ष को संरक्षण देना चाहिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *