कोंटा नगर पंचायत में मंत्री कवासी लखमा ने लगाई सौगातों की झड़ी

सुगम सड़क योजना अंतर्गत 12 सड़क निर्माण कार्यों का किया भूमिपूजन
मंत्री स्वेच्छानुदान राशि, तेंदुपत्ता संग्रहण पारिश्रमिक किया प्रदान
सुकमा (IMNB)। उद्योग एवं आबकारी मंत्री श्री कवासी लखमा ने कोंटा वासियों पर सौगातों की झड़ी लगाई। उन्होंने कोंटा जनपद अंतर्गत विभिन्न विकास कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण किया, इसके साथ ही हितग्रहियों को विभिन्न योजनाओं के तहत राशि भी प्रदान की। मंत्री श्री लखमा ने आर्थिक रूप से कमजोर 154 हितग्राहियों को 5-5 हजार की स्वेच्छानुदान राशि प्रदान की। श्रीमती सुलोचना को बेहतर चिकित्सा के लिए 20 हजार की राशि प्रदान की। इसके साथ ही प्राकृतिक आपदा में हुए मानव क्षति के लिए 4 परिवारों को 4-4 लाख की आर्थिक सहायता राशि एवं पशु क्षति के लिए 13 हितग्राहियों की कुल 4 लाख 36 हजार की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की।
तेंदुपत्ता संग्रहण पारिश्रमिक का नगद भुगतान के लिए संग्राहकों ने प्रकट किया आभार, मंत्री को भेंट की गणपति की प्रतिमा
सुकमा जिले में तेंदुपत्ता संग्रहण यहां के ग्रामीण निवासियों के लिए आय के प्रमुख जरियों में से एक है। कोंटा तहसील के तेंदुपत्ता संग्राहकों ने मंत्री श्री लखमा को आज गणपति की प्रतिमा भेंट कर जिले में नगद पारिश्रिक भुगतान के लिए धन्यवाद दिया। नक्सल प्रभावित एवं अंदरूनी क्षेत्रों के तेंदुपत्ता संग्राहकों के हितों को ध्यान में रखते हुए मंत्री के प्रयासों की हितग्राहियों ने स्वागत किया। मंत्री श्री लखमा ने आज कोंटा में 15 तेंदुपत्ता संग्राहक परिवारों को कुल 2 लाख रुपए की नगद पारिश्रमिक का भुगतान किया। इसके साथ ही मंत्री श्री लखमा ने कोंटा तहसील अंतर्गत ग्राम बंजामुगड़ा के 17 व्यक्तियों को व्यक्तिगत वन अधिकार का प्रमाण पत्र प्रदान किया। और 75 हितग्राहियों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के अन्तर्गत निःशुल्क धान बीज, उड़द बीज, रागी का वितरण किया।
इस अवसर पर आयोजित आम सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने सुकमा जिले में विगत साढ़े तीन वर्षों में हुए विकास कार्यों को दोहराया। उन्होंने कहा की मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जन नायक है, उनके मार्गदर्शन में आज सुकमा सहित पूरे बस्तर संभाग में बदलाव और विकास की बयार बह रही है। पहले जिन क्षेत्रों में आवागमन की कल्पना करनी भी मुश्किल थी, आज वहां पक्की सड़क बनी हैं। शिक्षा के स्तर को बेहतर करने के लिए शासन द्वारा विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। सलवा जुडूम के दौरान नक्सली हिंसा में ध्वस्त स्कूलों का पुनः संचालन किया जा रहा है। नए स्कूल, आश्रम शाला भवन बनाए जा रहे है। आदिवासी लोगो की पहचान आज विश्व पटल पर है, देश विदेश में विश्व आदिवासी दिवस मनाया जाता है। देवगुढ़ी के माध्यम से आदिवासियों की कला, संस्कृति, उनके आस्था के संरक्षण के प्रति संकल्पित होकर कार्य किया जा रहा है। आदिवासियों को वनोपज का सही दाम प्रदान किया जा रहा है। मलेरिया, एनीमिया और कुपोषण कम करने में भी जिले में सफल प्रयास हुए है। उन्होंने आम सभा में टेटराई में आगमी 6 माह में बिजली लगाने की घोषणा की।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्री हरीश कवासी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री बोड्डू राजा, सुकमा नगर पालिका अध्यक्ष श्री जगन्नाथ साहू, कोंटा नगर पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मौसम जया, कोंटा जनपद अध्यक्ष श्री सुन्नम नागेश सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, एसडीएम कोंटा श्री बनसिंह नेताम, जनपद सीईओ श्री कैलाश कश्यप सहित गणमान्य नागरिक और ग्रामीण जन उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *