कोविड से जंग में एनएमडीसी ने किये प्रशासन के हाथ मजबूत, कोरोना मरीजों को राहत देंगे ऑक्सीजन के 150 बड़े सिलिंडर


नगरनार। कोवीड 19 महामारी से जंग जजतने के लिए ऑक्सीजन सिलिंडर का महत्तव ध्यान में रखते हुए एनएमडीसी के नगरनार स्टील संयंत्र ने जिला प्रशासन की आवश्यकता के जवाब में ऑक्सीजन के 150 बड़े सिलिंडर बस्तर प्रशासन को उपलब्ध कराये। नगरनार इस्पात संयंत्र के इंचार्ज एवं कार्यकारी निदेशक  प्रशांत दास ने कहा एनएमडीसी हमेशा बस्तर के सुख समद्धि के लिए प्रयास करता रहा है। मुझे ख़ुशी है कि इस कठिन समय में एनएमडीसी के तरफ  से एक और क़दम उठा है जिस से बस्तर प्रशासन को इस महामारी को मात देने में मदद मिलेगी।
इस सन्दर्भ में कि सुबह राज्य शासन की एक टीम ने नगरनार स्टील संयंत्र के ऑक्सीजन प्लांट जाकर सिलिंडरों का निरीक्षण किया। जी आर मरकाम, डिप्टी कलेक्टर और एसडीओ (राजस्व), जगदलपुर, सुश्री गीता रायस्त, डिप्टी कलेक्टर और एसडीओ (राजस्व), तोकापाल और डॉ सी मैत्री, जिला प्रतिरक्षण अधधकारी ने प्रशांत दास से चर्चा कर सिलिंडर्स की जांच की। टीम ने सिलिंडरों को अपने उपयोग के लिए स्वीकार्य पाया। फलस्वरूप, नगरनार इस्पात संयंत्र ने बिना विलम्ब किये ही 150 ऑक्सीजन के बड़े सिलिडंरों को प्रशासन के सुपुर्द किया।
श्री मरकाम ने इस सहायता की सराहना करते हुए इसे एनएमडीसी की तरफ से शासन के हाथ मज़बूत करने वाला क़दम बताया। श्री मरकाम ने मौजूदा स्थिति पर रोशनी डालते हुए बताया, कई मरीज़ मेडिकल सहायता के लिए बड़े शहरों से और बस्तर के आस पास से जगदलपुर आ रहे हैं। ऐसे में ऑक्सीजन का परिवहन करने के लिए सिलिंडर की दरकार है। इतनी मात्रा में सिलिडंर की आपूर्ति पूरी करना एक बड़ा सवाल था। ऐसे में एनएमडीसी ने जो 150 सिलिडंर दिए हैं यह बहुत काम आएंगे क्योंकिइनकी प्रत्येक की क्षमता 46.7 लीटर होने से, यह साधारण इस्तेमाल आनेवाले 450 सिलिंडरों के बरारबर हैं।
ज्ञात हो के निर्माणाधीन नगरनार इस्पात संयंत्र एक एकीकृत इस्पात संयंत्र के रूप में आकार ले रहा है जिसमें ऑक्सीजन प्लांट का होना अनिवार्य है। हालांकि ऑक्सीजन प्लांट अभी कार्यरत नहीं है लेकिन अपनीभविष्य की ज़रुरत के लिए संयंत्र ने सिलिडंर प्राप्त किये थे। यही सिलिडंरों का भंडार शासन के सुपुर्द कर प्रशांत दास ने कोरोना से जंग में प्रशासन को ठोस समर्थन देने के एनएमड़ीसी के संकल्प को, फिर एक बार, वास्तविक रूप दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *