Friday, June 14

प्लास्टिक उत्पादक ही प्लास्टिक वेस्ट निष्पादन करेंगे

उद्योगों को 30 दिन के अंदर एनओसी जारी, कोई प्रकरण लंबित नहीं
पर्यावरण मंत्री श्री डंग ने की विभागीय समीक्षा

पर्यावरण मंत्री श्री हरदीपसिंह डंग ने बताया कि प्लास्टिक वेस्ट से होने वाले प्रदूषण को नियंत्रित करने प्लास्टिक उत्पादक कंपनियों को ही निष्पादन की जिम्मेदारी दी गई है। यह कंपनियाँ निष्पादन कंपनी को अनुबंधित करेंगी। दोनों का शासकीय पंजीयन होगा और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा निगरानी रखी जायेगी। मंत्री श्री डंग ने सोमवार को पर्यावरण विभाग और मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की गतिविधियों की समीक्षा की। मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव श्री चन्द्र मोहन ठाकुर, एप्को के कार्यकारी निदेशक श्री एम.आर. खान और प्रबंध संचालक नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा श्री कर्मवीर शर्मा उपस्थित थे।

मंत्री श्री डंग ने बताया कि उद्योगों को 30 दिन के अंदर एनओसी जारी की जा रही है। कोई भी प्रकरण लंबित नहीं है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को प्राप्त होने वाली स्थापना सम्मति, उत्पादन सम्मति और सम्मति नवीनीकरण इत्यादि का निपटारा तुरंत किया जा रहा है। ऐसे उद्योग और संस्थान, जिन्होंने जानकारी के अभाव में बोर्ड से सम्मति या प्राधिकार प्राप्त नहीं किया है, ‘विवाद से विश्वास’ योजना में आवेदन करने पर न्यायालयीन कार्यवाही न करते हुए उन्हें सम्मति प्रदान की जा रही है।

प्रदेश की 85 नदियों और उनकी सहायक नदियों की जल गुणवत्ता का मापन सतत किया जा रहा है। नदियों को औद्योगिक प्रदूषण से मुक्त रखने ‘शून्य निस्त्राव’ की नीति लागू है। मंत्री श्री डंग ने ‘अंकुर कार्यक्रम’, ‘सीएम राइज स्कूल’, ‘बायोस्फियर रिजर्व’ योजना, राष्ट्रीय जलीय स्त्रोत संरक्षण कार्यक्रम में दतिया के सीता सागर तालाब, शिवपुरी झील, रतलाम के अमृत सागर तालाब, धार के मुंज, धूप और देवी सागर, शिवना नदी संरक्षण कार्यों की भी समीक्षा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *