Sunday, March 3

मध्य प्रदेश के जबलपुर में विभिन्न परियोजनाओं की आधारशिला रखने के अवसर पर प्रधानमंत्री के संबोधन का मूल पाठ

New Delhi (IMNB).

भारत माता की जय।

भारत माता की जय।

मध्य प्रदेश के राज्यपाल श्रीमान मंगू भाई पटेल, मुख्यमंत्री भाई शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्रिमंडल के मेरे सभी साथी, MP सरकार के मंत्री, सांसदगण, विधायकगण, मंच पर विराजमान अन्य सभी महानुभाव और इतनी बड़ी तादाद में हमें आशीर्वाद देने के लिए आए हुए  देवियों और सज्जनों!

मां नर्मदा की इस पुण्यभूमि को प्रणाम करते हुए, श्रद्धापूर्वक नमन करते हुए, मैं आज जबलपुर का एक नया ही रूप देख रहा हूं। मैं देख रहा हूं जबलपुर में जोश है, महाकौशल में मंगल है, उमंग है, उत्साह है। ये जोश, ये उत्साह, दिखाता है कि महाकौशल के मन में क्या है। इसी उत्साह के बीच आज पूरा देश वीरांगना रानी दुर्गावती जी की 500वीं जन्म जयंती मना रहा है। रानी दुर्गावती गौरव यात्रा के समापन अवसर पर, मैं उनकी जयंती को राष्ट्रीय स्तर पर मनाने का आह्वान किया था। आज हम सभी इसी उद्देश्य से यहां एकत्र हुए हैं, एक पवित्र कार्य करने के लिए एकत्र हुए हैं, हमारे पूर्वजों का ऋण चुकाने के लिए इकट्ठे हुए हैं। थोड़ी देर पहले ही यहां रानी दुर्गावती जी की, उनके भव्य स्मारक का भूमि पूजन हुआ है, और मैं अभी वो कैसे बनने वाला है, शिवराज जी मुझे detail में अभी उसका पूरा map दिखा रहे थे। मैं पक्का मानता हूं ये बनने के बाद हिन्दुस्तान की हर माता को, हर नौजवान को इस धरती पर आने का मन कर जाएगा। एक प्रकार से यात्राधाम बन जाएगा। रानी दुर्गावती का जीवन हमें सर्वजन हिताय की सीख देता है, अपनी जन्मभूमि के लिए कुछ कर गुजरने का हौसला देता है। मैं रानी दुर्गावती जयंती पर पूरे आदिवासी समाज को, मध्य प्रदेश को और 140 करोड़ देशवासियों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं। दुनिया के किसी देश में रानी दुर्गावती जैसा कोई उनका नायक होता, नायिका होती तो वो देश पूरी दुनिया में उछल-कूद करता। आजादी के बाद हमारे देश में भी यहीं होना चाहिए था लेकिन हमारे महापुरूषों को भुला दिया गया। हमारे इन तेजस्वी, तपस्वी, त्याग और तपस्या की मूर्ति ऐसे महापुरूषों को, ऐसे वीरों को, विरांगनाओं को भुला दिया गया।

मेरे परिवारजनों,

आज यहां कुल 12 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक के विकास कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण हुआ है। पानी और गैस की pipeline हो या फिर 4 lane सड़कों का network, ये लाखों-लाख लोगों का जीवन बदलने वाले projects हैं। इससे यहां के किसानों को तो लाभ होगा ही होगा, नए कारखाने और फैक्ट्रियां लगेंगी, हमारे नौजवानों को यहीं पर रोज़गार मिलेगा।

मेरे परिवारजनों,

भाजपा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है – अपनी बहनों को धुएं से मुक्त रसोई देना। कुछ लोगों ने research कर कहा है, जब एक मां खाना पकाती है और धुएं वाला चूल्हा है, लकड़ी जलाती है या कोयला जलाती है तो 24 घंटे में खाना पकाने के कारण, उस धुएं में रहने के कारण उसके शरीर में 400 cigarettes का धुआं जाता है। क्या मेरी माताओं-बहनों को इस मुसीबत से मुक्ति मिलनी चाहिए की नहीं मिलनी चाहिए? जरा पूरी ताकत से बताइए माताओं-बहनों की बात है। मेरी माताओं-बहनों को रसोई घर में धुएं से मुक्ति मिलनी चाहिए की नहीं मिलनी चाहिए? क्या ये काम Congress पहले नहीं कर सकती थी, नहीं किया, उनको माताओं-बहनों की, उनके स्वास्थ्य की, उनकी तबीतय की परवाह नहीं थी।

भाइयों-बहनों,

गरीब परिवार की करोड़ों बहनों को हमने इसीलिए बड़ा अभियान चलाकर उज्जवला का मुफ्त gas connection दिया, वरना पहले तो गैस का एक connection लेना है ना, तो MP के घर चक्कर काटने पड़ते थे। और आपको तो याद है रक्षाबंधन के पर्व पर भाई, बहन को कुछ भेंट़ देता है। तो रक्षाबंधन के पर्व पर हमारी सरकार ने सभी बहनों के gas cylinder सस्ते कर दिया था। उस समय उज्जवला की लाभार्थी बहनों के लिए cylinder 400 रुपए तक सस्ता किया गया। और अब कुछ ही दिनों के बाद दुर्गा पूजा, नवरात्री, दशहरा, दिवाली ये त्यौहार आने वाले हैं। तब ये मोदी सरकार ने उज्जवला का cylinder कल ही फिर एक बार 100 रुपए सस्ता कर दिया। यानि पिछले कुछ सप्ताह में ही उज्जवला की लाभार्थी बहनों के लिए cylinder 500 रुपए सस्ता हुआ है। अब उज्जवला की लाभार्थी मेरी गरीब माताओं-बहनों-बेटियों को गैस का cylinder सिर्फ 600 रुपए में ही मिल जाएगा। सिलेंडरों के बजाय pipe से ही सस्ती गैस रसोई में आए, इसके लिए भी भाजपा सरकार तेज़ गति से काम कर रही है। इसलिए ही यहां gas pipeline भी बिछाई जा रही हैं। इसका लाभ भी मध्य प्रदेश के लाखों परिवारों को होगा।

मेरे परिवारजनों,

आज जो हमारे college में पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं हैं, जो हमारे नौजवान साथी हैं, हमारे नौजवान बेटे-बेटियां हैं, उन्हें मैं जरा पुरानी कुछ बातें याद कराना चाहता हूं, करवाऊं, पुरानी बात याद करवाऊं, 2014 की बात याद करवाऊं, आप कहे तो करवाऊं? आप देखिए जो आज 20-22 साल के है ना उनको तो शायद पता ही नहीं होगा क्योंकि उस समय वो 8,10,12 साल के होंगे, उनको पता ही नहीं होगा कि मोदी आने से पहले क्या हाल था। तब आए दिन Congress सरकार के हजारों करोड़ रुपए के घोटाले headlines बना करते थे। जो पैसा गरीब पर खर्च होना था, वो पैसा Congress के नेताओं की तिजोरियों में जा रहा था। और मैं तो इन नौजवानों को कहूंगा, वो तो online वाली पीढ़ी है, जरा Google पर जाकर search करेंगे, 2013-14 के अखबारों की जरा headline पढ़ दीजिए, क्या हालत थी देश की।

और इसलिए भाइयों-बहनों,

2014 के बाद जब आपने हमें सेवा करने का मौका दिया तो Congress सरकार की बनाई उन भ्रष्ट व्यवस्थाओं को बदलने का हमने एक अभियान चलाया, उधर भी स्वच्छता अभियान चला दिया। हमने technology का इस्तेमाल करके करीब-करीब 11 करोड़, ये आंकड़ा याद रखोगे, जरा जवाब देंगे तो पता चलेगा, ये आकंड़ा याद रखोगे, ये आंकड़ा याद रखोगे? 11 करोड़ फर्जी नामों को हमने सरकारी दफ्तरों से हटाया। कितने, कितने जरा जोर से बोलिए कितने, 11 करोड़, ये 11 करोड़ नाम कौन से थे, ये वो नाम थे जिनका कभी जन्म ही नहीं हुआ था। लेकिन सरकारी दफ्तर से खजाना लूटने का रास्ता बन गया था। Congress ने इनका झूठे नाम, फर्जी नाम, कागजी दस्तावेज तैयार कर दिए।

ये मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की कुल आबादी है ना, उससे भी ज्यादा बड़ा आंकड़ा है 11 करोड़। ये 11 करोड़ फर्जी नाम, जो सच्चे गरीब लोग हैं, असली गरीब लोग हैं, उनका हक छीनकर के खजाना लूटने का काम हो रहा था। 2014 में आने के बाद ये मोदी ने सबकुछ साफ कर दिया। ये लोग गुस्सा करते है ना इसका कारण भी यहीं है कि उनकी कटकी बंद हो गई है, commission बंद हो गया है। मोदी ने आकर के सब साफ कर दिया। ना गरीबों का पैसा लुटने दूंगा, ना ही Congress का खजाना, Congress के नेताओं की तिजोरी भरने दूंगा मैं। हमने जनधन-आधार और mobile की ऐसी त्रिशक्ति बनाई कि Congress का भ्रष्टतंत्र तहस-नहस हो गया। आज इस त्रिशक्ति की वजह से ढाई लाख करोड़ रुपए से ज्यादा, ये आंकड़ा भी जरा मैं दोबारा पूछूंगा आपको, ढाई लाख करोड़ रुपए से ज्यादा जो गलत हाथों में जाते थे, चोरी होते थे, उसको बचाने का काम मोदी ने किया है, कितने? कितने ढाई लाख करोड़। आज गरीबों का पैसा, गरीबों के हित में काम आ रहा है। उज्जवला का cylinder सिर्फ 500 रुपए में देने के लिए केंद्र सरकार आज करोड़ों रुपए खर्च कर रही है। करोड़ों परिवारों को मुफ्त राशन मिले, इस पर भी 3 लाख करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। ये 3 लाख करोड़ रूपए तिजोरी से इसलिए देते है कि कोई मेरी गरीब मां का बच्चा रात को भूखा नहीं सोना चाहिए, गरीब का चूल्हा जलते रहना चाहिए।   आयुष्मान योजना के तहत देश के करीब 5 करोड़ परिवारों का मुफ्त इलाज हो चुका है। इसके लिए भी 70 हजार करोड़ रुपए सरकार ने आपके आयुष्मान कार्ड के लिए खर्च किए हैं। किसानों को सस्ता urea मिले, दुनिया में urea की थैली 3 हजार में बिकती है, मोदी 300 से भी कम में देता है और इसलिए खजाने से 8 लाख करोड़ रुपया केंद्र सरकार ने खर्च किया हैं, ताकि मेरे किसानों पर बोझ न पड़े। पीएम किसान सम्मान निधि के तहत भी ढाई लाख करोड़ रुपए सीधा किसानों के बैंक खाते में जमा किए जा चुके हैं। गरीब परिवारों को पक्का घर देने के लिए भी हमारी सरकार ने 4 लाख करोड़ रुपए खर्च किए हैं, ताकि गरीब को पक्का घर मिले।। आज भी आपने देखा अभी इंदौर में गरीब परिवारों को आधुनिक तकनीक से बने हुए multi-stored एक हज़ार पक्के घर देने का काम अभी किया मैंने।

मेरे परिवारजनों,

ये पूरा पैसा जोड़ेंगे तो आंकड़ा कितना होगा, कितने ज़ीरो लगाने पड़ेंगे, आपको अंदाज आता है, ये Congress वाले इसका हिसाब भी नहीं कर सकते। और आप सुनिए 2014 से पहले ये जो zero, zero, zero है ना वो सिर्फ घोटालों का पैसा जोड़ने में लग जाता था। अब आप सोचिए Congress के एक प्रधानमंत्री कहते थे कि दिल्ली से एक रूपया भेजते है तो 15 पैसा पहुंचता है, 85 पैसा कोई पंजा घिस लेता था। एक रूपया भेजते थे 15 पैसा पहुंचता था। मैंने जितने रूपये अभी गिनाए, अगर ये रूपये Congress के जमाने में गए होते तो कितनी बड़ी चोरी हुई होती, आप अंदाज लगाएगा। आज गरीबों के लिए इतना पैसा भाजपा सरकार दे रही है।

मेरे परिवारजनों,

मेरे मध्य प्रदेश के लिए ये बहुत ही महत्वपूर्ण समय है। मैं आज मां नर्मदा के तट से खड़ा रहकर के कह रहा हूं, पूरे मध्य प्रदेश को कह रहा हूं, पूरे मध्य प्रदेश के नौजवानों को कह रहा हूं, मां नर्मदा को याद कह कर कह रहा हूं क्योंकि मैं भी मां नर्मदा की गोद से आया हूं और आज मां नर्मदा के किनारे पर खड़ा होकर कह रहा हूं। मेरे नौजवानों, मेरे शब्द लिखो, मध्य प्रदेश, आज एक ऐसे मुहाने पर है, जहां विकास में कोई भी रुकावट, उसके विकास की गति में कोई भी गिरावट 20-25 साल के बाद भी लौटेगी नहीं, सबकुछ तबाह हो जाएगा। और इसलिए विकास की इस गति को रूकने नहीं देना है, अटकने नहीं देना है। ये 25 साल आपके बहुत महत्वपूर्ण है। MP के 25 साल से कम उम्र के साथियों ने तो नया और प्रगति करता हुआ मध्य प्रदेश ही देखा है। अब ये उनकी जिम्मेदारी है कि आने वाले 25 सालों में जब उनके बच्चे युवा होंगे, तब उनके सामने विकसित मध्य प्रदेश हो, समृद्ध मध्य प्रदेश हो, आन-बान-शान वाला मध्य प्रदेश हो। इसके लिए आज ज्यादा मेहनत की ज़रूरत है। इसके लिए आज सही फैसले की ज़रूरत है। बीते वर्षों में भाजपा सरकार ने MP को कृषि निर्यात में top पर पहुंचाया है। अब ये भी ज़रूरी है कि औद्योगिक विकास में भी हमारा MP नंबर वन बनना चाहिए। बीते वर्षों में भारत का रक्षा उत्पादन और रक्षा निर्यात कई गुणा बढ़ा है। इसमें जबलपुर का भी बहुत बड़ा योगदान है। मध्य प्रदेश में defence से जुड़ा सामान बनाने वाली 4 फैक्ट्रियां तो ये हमारे जबलपुर में ही हैं। आज केंद्र सरकार अपनी सेना को Made in India हथियार दे रही है। दुनिया में भारत के रक्षा सामान की demand बढ़ रही है। इससे मध्य प्रदेश को भी बहुत लाभ होने वाला है, यहां रोजगार के हजारों नए मौके बनने वाले हैं।

मेरे परिवारजनों,

आज भारत का आत्मविश्वास नई बुलंदी पर है। खेल के मैदान से लेकर खेत-खलिहान तक, भारत का परचम लहरा रहा है। अभी देखा होगा आपने इस समय एशियाई खेल चल रहे हैं, उसमें हम भारत का शानदार प्रदर्शन देख हहैं। आज भारत के हर युवा को लगता है कि ये समय भारत के युवा का समय है, ये कालखंड भारत के युवा का कालखंड है। युवाओं को जब ऐसे अवसर मिलते हैं, तब विकसित भारत के निर्माण का जज्बा भी बुलंद होता है। तभी भारत G20 जैसे भव्य विश्व आयोजन, इतने गौरव के साथ करा पाता है। तभी भारत का चंद्रयान वहां पहुंचता है, जहां कोई देश नहीं पहुंच पाया। तभी local के लिए vocal होने का मंत्र दूर-सुदूर तक गूंजने लगता है। आप सोच सकते हैं, एक तरफ ये देश चंद्रयान पहुंचता है तो दूसरी तरफ 2 अक्टूबर को गांधी जयंती पर दिल्ली के एक store पर, आप याद कीजिए 2 अक्टूबर को एक दिन में दिल्ली का जो एक खादी भंडार था, डेढ़ करोड़ रुपए से भी ज्यादा खादी बिकी है एक स्टोर में, ये ताकत है देश की। स्वदेशी की ये भावना, देश को आगे बढ़ाने की ये भावना आज चारों-तरफ बढ़ती जा रही है। औऱ इसमें बागडोर संभाली है मेरे देश के नौजवानों ने, मेरे देश के बेटे-बेटियों ने। तभी भारत के युवा start-up की दुनिया में कमाल कर रहे हैं। तभी भारत स्वच्छ होने का इतना बड़ा संकल्प लेता है। अभी एक अक्टूबर को ही देश ने जो स्वच्छता अभियान चलाया, उसमें 9 लाख से ज्यादा जगहों पर सफाई कार्यक्रम हुए हैं, 9 लाख जगह पर। उस सफाई अभियान में हिस्सा लेने वाली संख्या  9 करोड़ से ज्यादा देशवासी घरों से निकले, और झाडू लेकर के देश में सफाई का काम किया, सड़कों की, पार्कों की सफाई कीं। मध्य प्रदेश के लोगों ने, मध्य प्रदेश के युवाओं ने तो और भी कमाल कर दिया है। स्वच्छता के मामले में मध्य प्रदेश को अव्वल नंबर मिले हैं, देश में नंबर एक रहता है मध्य प्रदेश। इसी जज्बे को हमें आगे ले जाना है। और आने वाले 5 सालों में ज्यादा से ज्यादा मामलों में हमें MP को नंबर एक पर रखना है।

मेरे परिवारजनों,

जब किसी राजनीतिक दल पर सिर्फ और सिर्फ अपना स्वार्थ हावी हो जाता है, तो उसकी स्थिति का हम अंदाजा लगा सकते हैं। आज एक तरफ भारत की उपलब्धियों की चर्चा पूरी दुनिया कर रही है। लेकिन ये ही वही राजनीतिक दल, जिनका सब लुट गया है, शिवाय कुर्सी उनको कुछ दिखता नहीं है, ये अब इस हद तक गए हैं, इस हद तक गए हैं कि भाजपा को गाली देते-देते भारत को ही गाली देना शुरू कर दिया है। आज Digital India अभियान की पूरी दुनिया प्रशंसा कर रही है। लेकिन आप याद करिए, कैसे ये लोग आए दिन Digital India के लिए हमारा मज़ाक उड़ाते हैं। भारत ने Corona में दुनिया की सबसे प्रभावी vaccine बनाईं। इन लोगों ने अपनी vaccine पर भी सवाल उठाए। और मुझे तो अभी कोई बता रहा था एक नई फिल्म आई है, vaccine पर बनी हुई फिल्म, ‘Vaccine War’ और दुनिया के लोगों की आखें खुल जाए ऐसे फिल्म हमारे देश में बनी है। जो हमारे देश के वैज्ञानिकों ने कैसा कमाल कर दिया, देश के करोड़ों लोगों की जिंदगी कैसे बचाई, इस पर Vaccine War फिल्म बनी है।

भाइयों-बहनों,

भारत की सेना जो बात करती है, भारत की सेना जो पराक्रम करती है, तो वो लोग उस पर भी सवाल उठाते हैं। इन्हें देश के दुश्मनों की बात, आतंक के आकाओं की बात सही लगती है। मेरे देश के सेना के जवानों की बात सही नहीं लगती है। आपने भी देखा है, आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर पूरे देश ने अमृत महोत्सव मनाया। ये भाजपा का कार्यक्रम तो था नहीं, ये देश का कार्यक्रम था। आजादी, हिन्दुस्तान के हर नागरिक का उत्सव था। लेकिन ये लोग आजादी के अमृतकाल का भी मज़ाक उड़ाते है। हम आने वाली पीढ़ियों के लिए देश के कोने-कोने में अमृत सरोवर बना रहे हैं, पानी संग्रह का बड़ा अभियान चला रह है। लेकिन इस काम में भी इन लोगों को दिक्कत हो रही है।

मेरे परिवारजनों,

जिस दल ने आज़ादी के इतने सालों तक देश में सरकारें चलाई, उसने आदिवासी समाज को भी सम्मान नहीं दिया। आज़ादी से लेकर सांस्कृतिक विरासत की समृद्धि तक, हमारे आदिवासी समाज की भूमिका बहुत बड़ी रही है। गोंड समाज दुनिया के सबसे बड़े जनजातीय समाज में से एक है। ऐसे में, मैं आपसे एक सवाल करना चाहता हूं। लंबे समय तक जो सत्ता में रहे, उन्होंने आदिवासी समाज के योगदान को राष्ट्रीय पहचान क्यों नहीं दी? इसके लिए देश को भाजपा का ही इंतज़ार क्यों करना पड़ा? हमारे जो युवा आदिवासी, जब वो पैदा भी नहीं हुए थे, उन्हें ये जरूर जानना चाहिए। उनके पैदा होने से भी पहले अटल बिहारी वाजपेयी  की सरकार ने जनजातीय समाज के लिए अलग मंत्रालय बनाया, अलग बजट दिया। बीते 9 वर्षों में इस बजट को कई गुणा बढाने का काम ये मोदी की सरकार ने किया है। देश को पहली महिला आदिवासी राष्ट्रपति देने का सौभाग्य भी भाजपा को मिला। भगवान बिरसा मुंडा के जन्म दिवस को जनजातीय गौरव दिवस भी भाजपा सरकार ने घोषित किया। देश के आधुनिकतम रेलवे स्टेशनों में से एक स्टेशन का नाम रानी कमलापति के नाम पर किया गया। पातालपानी स्टेशन अब, जननायक टंट्याभील के नाम से जाना जाता है। और आज यहां गोंड समाज की प्रेरणा, रानी दुर्गावती जी के नाम पर इतने भव्य, आधुनिक स्मारक का निर्माण हो रहा है। इस संग्रहालय में गोंड संस्कृति, गोंड इतिहास और कला का प्रदर्शन भी होगा।  हमारा प्रयास यही है कि आने वाली पीढ़ियां समृद्ध गोंड परंपरा को जान सके। मैं जब दुनिया के नेताओं से मिलता हूं, तो उन्हें गोंड painting भी उपहार में देता हूं। जब वे इस शानदार गोंड कला की प्रशंसा करते हैं, तो मेरा माथा भी गर्व से ऊंचा हो जाता है।

साथियों,

आजादी के बाद दशकों तक जिस दल देश में सरकार में बैठा रहा, उसने सिर्फ एक ही काम किया, एक ही परिवार की चरण-वंदना, एक परिवार की चरण-वंदना करने के शिवाय उनको देश की परवाह नहीं थी। देश को आजादी सिर्फ एक परिवार ने नहीं दिलाई थी। देश का विकास भी सिर्फ एक परिवार ने नहीं किया है। ये हमारी सरकार है, जिसने सभी का मान रखा, सम्मान रखा, आदर किया, सभी का ध्यान रखा। ये भाजपा सरकार है, जिसने महू सहित दुनियाभर में डॉक्टर बाबा साहेब आंबेडकर से जुड़े स्थानों को पंचतीर्थ बनाया है। मुझे कुछ सप्ताह पहले सागर में संत रविदास जी की स्मारक स्थली के भूमि पूजन का भी अवसर मिला है। ये सामाजिक समरसता और विरासत के प्रति भाजपा सरकार की प्रतिबद्धता को दिखाता है।

साथियों,

परिवारवाद और भ्रष्टाचार को पालने-पोसने वाले दलों ने आदिवासी समाज के संसाधनों को लूटा है। 2014 से पहले सिर्फ 8-10 वन उपजों पर ही MSP दिया जाता था। बाकी वन उपजों को औने-पौने दाम पर कुछ लोग खरीदते थे और आदिवासियों को कुछ नहीं मिलता था। हमने इसको बदला और आज करीब 90 वन उपजों को MSP के दायरे में लाया जा चुका है।

साथियों,

अतीत में हमारे आदिवासी किसानों, हमारे छोटे किसानों की उपज कोदो-कुटकी जैसे मोटे अनाज को भी ज्यादा महत्व नहीं दिया गया। आपने देखा है कि दिल्ली में G20 के लिए दुनिया भर के बड़े-बड़े नेता आए थे, एक से बढ़कर एक बड़े नेता आए थे। उनको भी हमने आपके कोदो-कुटकी से बने पकवान खिलाए थे। भाजपा सरकार आपके कोदो-कुटकी को भी श्री अन्न के रूप में देश-विदेश के बाज़ारों तक पहुंचाना चाहती है। हमारी कोशिश यही है कि आदिवासी किसानों को, छोटे किसानों को अधिक से अधिक लाभ हो।

मेरे परिवारजनों,

भाजपा की double engine सकार की प्राथमिकता, वंचितों को वरीयता है। Pipe से पीने का साफ पानी मिले, ये गरीब के स्वास्थ्य और महिलाओं की सुविधा के लिए बहुत जरूरी है। आज भी यहां करीब 1600 गांवों तक पानी पहुंचाने का इंतज़ाम हुआ है। महिलाओं का स्वास्थ्य, हमेशा देश की प्राथमिकता होनी चाहिए थी। लेकिन इसे भी पहले लगातार नजरअंदाज कर दिया गया। नारीशक्ति वंदन अधिनियम, के माध्यम से लोकसभा, विधानसभा में महिलाओं को उनका हक देने का काम भी भाजपा ने ही किया है।

साथियों,

गांव के सामाजिक आर्थिक जीवन में हमारे विश्वकर्मा साथियों का बहुत बड़ा योगदान रहता है। इनको सशक्त करना प्राथमिकता होनी चाहिए थी। लेकिन 13 हज़ार करोड़ रुपए की पीएम विश्वकर्मा योजना, भाजपा सरकार बनने के बाद हमें उसको लाना पड़ा।

मेरे परिवारजनों,

भाजपा सरकार, गरीबों की सरकार है। अपने भ्रष्टाचार और अपने परिवारवाद को आगे बढ़ाने के लिए कुछ लोग भांति-भांति के प्रपंच कर रहे है। लेकिन मोदी की गारंटी है कि- MP विकास में top पर आएगा। मुझे विश्वास है कि मोदी के भाजपा सरकार के इस संकल्प को महाकौशल मजबूत करेगा, मध्य प्रदेश मजबूत करेगा। एक बार पुन: वीरांगना रानी दुर्गावती जी को श्रद्धापूर्वक नमन करता हूं। और आप इतनी बड़ी संख्या में हमें आशीर्वाद देने के लिए आए हैं, मैं ह्दय से आपका आभार व्यक्त करता हूं। मेरे साथ, मैं कहूंगा रानी दुर्गावती, आप कहिए अमर रहे, अमर रहे – रानी दुर्गावती – अमर रहे, अमर रहे। आवाज पूरे मध्य प्रदेश में गूंजनी चाहिए।

रानी दुर्गावती-अमर रहे, अमर रहे।

रानी दुर्गावती-अमर रहे, अमर रहे।

रानी दुर्गावती-अमर रहे, अमर रहे।

भारत माता की जय!

भारत माता की जय!

बहुत-बहुत धन्यवाद।

***

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *