Wednesday, July 24

पाकिस्तान ने PM मोदी को तीसरी बार शपथ लेने की दी बधाई

Narendra Modi: लोकसभा चुनाव 2024 में एनडीए को बहुमत मिलने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लगातार तीसरी बाद देश के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली है. लगभग तीन महीने चले चुनावी प्रक्रिया के बाद 4 जून को चुनाव आयोग ने नतीजे घोषित किए थे. नतीजे में एनडीए की जीत के बाद से ही दुनिया भर के नेताओं ने पीएम मोदी को बधाई दे दी थी. लेकिन पाकिस्तान ने बधाई नहीं थी.

लेकिन कल पीएम मोदी के शपथ लेने के बाद आज यानी सोमवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने पीएम मोदी को प्रधानमंत्री बनने की बधाई दी है. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर शहबाज शरीफ ने लिखा है, ”
भारत के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेने पर नरेंद्र मोदी को बधाई.”

 

इससे पहले शुक्रवार को पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मुमताज जहरा बलूच से जब को पूछा गया था कि पाकिस्तान ने नरेंद्र मोदी को उनकी चुनावी जीत पर बधाई क्यों नहीं दी? इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा था कि चूंकि भारत में सरकार का गठन अभी चल ही रहा है, इसलिए नरेंद्र मोदी को बधाई देने की बात करना जल्दबाजी है.

एशिया से यूरोप तक भारत की जीत की चर्चा

श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे और नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ ने आम चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (BJP) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के बहुमत हासिल करने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बधाई दी और उनके साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताई. श्रीलंका के राष्ट्रपति ने ‘X’ पर लिखा, ‘मैं BJP की अगुवाई वाले NDA को उसकी जीत पर हार्दिक बधाई देता हूं, जो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में प्रगति और समृद्धि में भारतीय लोगों के विश्वास को प्रदर्शित करती है.’

वैश्विक नेताओं को मोदी से उम्मीद

नेपाल के प्रधानमंत्री ‘प्रचंड’, मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ, मालदीव के राष्ट्रपति डॉ. मोहम्मद मुइज्जू, भूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग तोबगे ने भी NDA की चुनावी सफलता पर अपने भारतीय समकक्ष को बधाई दी. वहीं पाकिस्तान की सत्ता पर काबिज पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) पार्टी के नेता और पंजाब की सूचना मंत्री आजमा बोखारी ने कहा, ‘भारत के लोगों और चुनाव में जीत हासिल करने वाले उम्मीदवारों को पाकिस्तान बधाई देता है और उम्मीद करता है कि इसके परिणाम (नई सरकार) उपमहाद्वीप में शांति, प्रगति और समृद्धि लाएंगे.’

अमेरिका का सधा रवैया

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने भारत के संसदीय चुनावों की सराहना करते हुए इसे ‘इतिहास में लोकतंत्र की सबसे बड़ी प्रक्रिया’ बताया लेकिन उसने चुनाव के नतीजों पर टिप्पणी करने से परहेज किया. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने भारत के लोगों को ‘लोकतंत्र की व्यापक प्रक्रिया में’ शामिल होने के लिए बधाई दी.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *