Wednesday, July 24

राजनांदगांव : कलेक्टर एवं एसपी ने कानून व्यवस्था के संबंध में ली बैठक

– कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी अधिकारी सजगता एवं सतर्कता के साथ करें कार्य – कलेक्टर
– किसी भी धर्म, समाज, जाति को लेकर कोई घटना या विवाद की स्थिति बने तो इस पर रखें पैनी नजर
– किसी भी तरह की असामाजिक एवं अवैध गतिवधियों पर रोक लगाने के लिए करें तत्काल कड़ी कार्रवाई
– सूचना तंत्र को मजबूत बनाने की जरूरत – पुलिस अधीक्षक
– सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक एवं अन्य असामाजिक गतिविधियों से संबंधित सभी फाईल करते रहें अपडेट
– सभी एसडीएम एवं एसडीओपी तथा तहसीलदार एवं थाना प्रभारी संयुक्त रूप से करें दौरा
– आम जनता के साथ पुलिस का व्यवहार अच्छा होना चाहिए
राजनांदगांव 14 जून 2024। कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल एवं पुलिस अधीक्षक श्री मोहित गर्ग ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में बलौदाबाजार-भाटापारा जिला में सतनामी समाज के धार्मिक स्थल के क्षतिग्रस्त होने की घटना तथा मोहला-मानपुर-अम्बागढ़ चौकी जिला में सर्व आदिवासी समाज के जेल भरो आंदोलन के मद्देनजर कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के संबंध में सभी एसडीएम, एसडीओपी, तहसीलदार, थाना प्रभारी व अन्य अधिकारियों की बैठक ली। कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल ने कहा कि जिले में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी अधिकारी सजगता एवं सतर्कता के साथ कार्य करें। किसी भी धर्म, समाज, जाति को लेकर कोई घटना या विवाद की स्थिति बने तो इस पर पैनी नजर रखें। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की असामाजिक एवं अवैध गतिवधियों पर रोक लगाने के लिए तत्काल कड़ी कार्रवाई करें। अवैध खनिज उत्खनन तथा अन्य असामाजिक गतिविधियों को नजरअंदाज नहीं करें। एसडीएम एवं एसडीओपी तथा तहसीलदार एवं थाना प्रभारी संयुक्त रूप से दौरा करें तथा सूचनाओं का आदान-प्रदान करें। अधिकारी आम जनता से सतत संपर्क बनाए रखें तथा सभी साथ ही सभी अधिकारी एक-दूसरे से भी समन्वय बनाए रखें। उन्होंने कहा कि किसी भी स्थिति में सूचनाओं के आदान-प्रदान में कमी नहीं आना चाहिए। सभी एक-दूसरे को सहयोग करेंगे तो समस्याओं का समाधान होगा। आम जनता के बीच विश्वसनीयता बनाएं रखें। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में ईद, गणेश चतुर्थी सहित अन्य त्यौहार हैं, जिसमें कानूनी व्यवस्था बनी रहे। जिले में शांति व्यवस्था तथा सामाजिक सौहाद्र्र कायम रहे। कहीं पर सड़क दुर्घटना होने पर जाम की स्थिति नहीं होना चाहिए। सड़क दुर्घटना के कारण पर ध्यान देने तथा निराकरण करने की आवश्यकता है, ताकि सड़क दुर्घटना में कमी आ सके।  उन्होंने कहा कि टीम वर्क में कार्य करें। माह में एक बार व्यवस्थित तरीके से विकासखंड स्तर पर समन्वय के लिए बैठक होती रहनी चाहिए। कलेक्टर ने कहा कि आने वाले दिनों में नगरीय निकाय एवं त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन होने वाले हैं, जिसमें कई बार आरोप-प्रत्यारोप की स्थिति बनती है तथा कुछ क्षेत्रों में बहिष्कार की प्रवृत्ति होती है। ऐसे क्षेत्रों में तत्काल कार्रवाई करने की जरूरत है।
पुलिस अधीक्षक श्री मोहित गर्ग ने कहा कि सभी अधिकारी सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक एवं अन्य असामाजिक गतिविधियों, नक्सल क्षेत्रों में नक्सलियों के सहयोगी से संबंधित सभी फाईल अपडेट करते रहें तथा उनके प्रतिनिधियों की पद सूची तथा मोबाईल नंबर सहित सूची बनाएं। उन्होंने कहा कि असामाजिक गतिविधियों में शामिल होने वाले व्यक्तियों के अपराधिक रिकार्ड एवं शिकायत भी अपडेट होना चाहिए। इसके साथ ही सड़क दुर्घटना के कारणों से संबंधित रिपोर्ट की भी समीक्षा की जाएगी। जिससे स्थिति में सुधार आए और सड़क दुर्घटना की संख्या में कमी आएगी। उन्होंने कहा कि सूचना तंत्र को मजबूत बनाने की जरूरत है। ऐसी कोई भी असामाजिक गतिविधि जो कानून एवं व्यवस्था को प्रभावित कर सकती है, इस पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम एवं एसडीओपी तथा तहसीलदार एवं थाना प्रभारी संयुक्त रूप से दौरा करें और आपस में सामंजस्य बनाये रखें। जिससे किसी भी घटना एवं चुनौती का सामना करने में आसानी होगी। उन्होंने कहा कि सभी पुलिस अधिकारी जनचौपाल एवं चलित थाना में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की घटना होने पर आम जनता के साथ पुलिस का व्यवहार अच्छा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पीडि़त पक्ष की समस्या को ध्यान से सुनने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि विवाद, दो गुटों में झड़प, अतिक्रमण में विवाद जैसी स्थिति होने पर सजग रहकर कार्रवाई करें। ऐसे स्थानों पर ध्यान दें, जहां पेट्रोलिंग बढ़ाने की जरूरत है। यह सभी अधिकारियों की संयुक्त जिम्मेदारी है।
इस दौरान विभिन्न समस्याओं एवं चुनौतियों तथा थाना में शेड एवं अन्य सुविधाओं के संबंध में चर्चा की गई। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री सीएम मारकण्डेय, अपर कलेक्टर श्रीमती इंदिरा नवीन प्रताप सिंह तोमर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एवं नक्सल आपरेशन प्रभारी श्री मुकेश ठाकुर, एसडीएम राजनांदगांव अतुल विश्वकर्मा, एसडीएम डोंगरगढ़ श्री श्रीकांत कोर्राम, एसडीएम डोंगरगांव श्री मोहन मरकाम, सीएसपी श्री पुष्पेन्द्र नायक, डिप्टी कलेक्टर श्री अमिय श्रीवास्तव, डीएसपी श्रीमती तनुप्रिया ठाकुर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *