Sunday, July 21

राजनांदगांव : चिन्हांकित ग्रामों में जल संरक्षण एवं पौधरोपण के लिए विशेष कार्य करने की आवश्यकता – कलेक्टर

–  पौधरोपण की रखें पूरी तैयारी
– स्कूलों में प्रवेशोत्सव की तैयारी करने दिए निर्देश
– पोट्ठ लईका के तहत गंभीर कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन करते हुए पौष्टिक भोजन देने तथा अन्य आवश्यक दवाईयां देने के दिए निर्देश
– गंभीर कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य का लगातार करें मानिटरिंग
– 19 जून से दिव्यांगजनों के लिए शिविर, आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने कहा
– ईद के त्यौहार को ध्यान में रखते हुए कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए किया निर्देशित
– देयकों एवं मासिक लेखे का प्रस्तुतिकरण जल्द ही होगा पेपरलेस
– साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक संपन्न
राजनांदगांव 13 जून 2024। कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल ने कहा कि जिले में खनिज के अवैध उत्खनन पर रोक लगाने के लिए अच्छा कार्य किया जा रहा है। ग्रामीणों को जागरूक करने पर सक्रियतापूर्वक कार्रवाई की जा सकेगी। उन्होंने कहा कि जिले में जल संरक्षण की दिशा में अच्छा कार्य किया जा रहा है। जल रक्षा मिशन अंतर्गत वाटर रिचार्ज करने के लिए विभिन्न जलीय संरचना का निर्माण किया जा रहा है। जिन ग्रामों में पेयजल की अधिक समस्या अधिक दिखाई दे रही है, ऐसे ग्रामों को चिन्हांकित करते हुए जल संरक्षण एवं पौधरोपण करने के लिए विशेष कार्य करने की आवश्यकता है। 2 हजार हेक्टेयर में खरीफ फसल अंतर्गत मक्का की डिमांड आयी है। वही किसान अरहर, कोदो, कुटकी, मुंगफल्ली लगाने की तैयारी भी कर रहे हंै। खाद एवं बीज पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। राजनांदगांव एवं डोंगरगांव विकासखंड जल की कमी के कारण क्रिटिकल जोन में है, इसलिए हम सभी की जिम्मेदारी है कि जनजागरूकता के लिए कार्य करें तथा जल संरक्षण के लिए ग्रामों में विभिन्न गतिविधियांं आयोजित करें। उद्योगों द्वारा पौधरोपण एवं वाटर स्ट्रक्चर के लिए कार्य किया जाएगा। उन्होंने कहा कि चारागाह अंतर्गत सभी विकासखंड में लगभग 63 स्थानों पर भूमि उपलब्ध है, जहां बेहतरीन पौधरोपण किया जा सकता है। उन्होंने सभी जनपद सीईओ को पौधरोपण के लिए भूमि चिन्हांकित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि बारिश के पहले गड्ढे खोदकर पौधरोपण की पूरी तैयारी रखें। कलेक्टर ने कहा कि 18 जून से स्कूल खुलने वाले हैं, गणवेश एवं पुस्तके आ गई है। स्कूलों में प्रवेशोत्सव की तैयारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में शाला प्रवेशोत्सव का आयोजन होना चाहिए। न्यौता भोजन, बच्चों के साल भर की पढ़ाई का रोस्टर बनाएं। उक्त बातें कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आयोजित साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक में कही।
कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल ने पोट्ठ लईका के तहत गंभीर कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन करते हुए पौष्टिक भोजन देने तथा अन्य आवश्यक दवाईयां देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गंभीर कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य की लगातार मानिटरिंग करते रहें। स्वास्थ्य जांच, हिमोग्लोबिन  परीक्षण, सुपोषण चौपाल एवं अन्य कार्य जारी रहे। इस कार्य की वाट्सएप गु्रप बनाकर प्रतिदिन बच्चों के स्वास्थ्य की मानिटरिंग करने के निर्देश दिए। एजुकेशन हब की पूरी तैयारी रखें। एजुकेशन हब में कुछ कमरों को लाइब्रेरी के रूप में उपयोग सकते हैं। प्रधानमंत्री आवास योजनांतर्गत कालोनी के स्वरूप में आवास बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए भूमि का चिन्हांकन करें। कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग अंतर्गत सिकलसेल जांच, फाईलेरिया की रिपोर्ट, संस्थागत प्रसव, निक्षय मित्र अंतर्गत किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने संस्थागत प्रसव बढ़ाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि 19 जून से दिव्यांगजनों के लिए शिविर लगाया जा रहा है, इसके अंतर्गत प्रथम चरण में 8 तथा दूसरे चरण में 7 शिविर लगाए जाएंगे। उन्होंने इसके लिए आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। जिन स्थानों में शिविर लगाए जाएंगे, वहां पर डॉक्टर समय पर पहुंच जाएं। शिविर में पंजीयन, प्रमाण पत्र वितरण एवं भोजन के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। रामलला दर्शन के लिए अयोध्या जाने वाले श्रद्धालुओं से आवश्यक समन्वय करने कहा। ईद के त्यौहार को ध्यान में रखते हुए कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए निर्देशित किया। कलेक्टर ने सभी एसडीएम को आश्रम व छात्रावास का निरीक्षण करने कहा। कलेक्टर ने कहा कि वित्त विभाग द्वारा 1 जुलाई 2024 से सभी प्रकार के देयकों, भुगतान एवं लेखे का प्रेषण इलेक्ट्रानिक पद्धति से किया जाएगा। इस संबंध में कलेक्टर ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों, आहरण एवं संवितरण अधिकारियों को विस्तृत दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि देयकों एवं मासिक लेखे का प्रस्तुतिकरण जल्द ही पेपरलेस हो जाएगा। उन्होंने सांकरदाहरा को पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित करने, डीएमएफ अंतर्गत जनहित के लिए प्रस्ताव पर चर्चा, डोंगरगढ़ जाने वाले पदयात्रियों की सुविधा, चिरायु योजना, जैविक खेती, वनाधिकार पट्टा, आयुष्मान कार्ड सहित विभिन्न कार्यों की समीक्षा की।
जिला पंचायत सीईओ सुश्री सुरूचि सिंह ने पौधरोपण अंतर्गत किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बारिश के पहले पौधरोपण की तैयारी के लिए तेजी से कार्य किया जा रहा है। चिन्हांकित ग्रामों में जल संरक्षण एवं पौधरोपण के कार्य जारी हैं। लखपति दीदी योजनांतर्गत 60 हजार से अधिक राशि की आय वाली महिलाओं का चिन्हांकन किया जा रहा है और उन्हें ग्रामीण स्वरोजगार संस्थान बरगा में प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। उन्होंने गंभीर कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि उन्हें पौष्टिक भोजन एवं दवाईयां देने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री सीएल मारकण्डेय, अपर कलेक्टर श्रीमती इंदिरा नवीन प्रताप सिंह तोमर, नगर निगम आयुक्त श्री अभिषेक गुप्ता, संयुक्त कलेक्टर एवं एसडीएम राजनांदगांव श्री खेमलाल वर्मा, एसडीएम डोंगरगढ़ श्री श्रीकांत कोर्राम, एसडीएम डोंगरगांव श्री मोहन मरकाम एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *