दुर्ग एड्स जागरुकता के लिए निकली रैली, नर्सिंग छात्रों ने किया नुक्क-ड़ नाटक


दुर्ग, 01 दिसंबर 2021। विश्व एड्स दिवस के अवसर पर आज आईसीटीसी, पी.पी.टी.सी.टी.आई. एनजीओ, ब्ल्ड बैंक के कर्मचारियों सहित नर्सिंग कॉलेज के छात्राओं ने रैली निकालकर एड्स के प्रति लोगों को जागरूक किया। रैली में नारे लगाते हुए एड्स के प्रति जागरूक रहने का संदेश दिया। सीएमएचओ डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर और एड्स नियंत्रण नोडल अधिकारी डॉ. अनिल कुमार शुक्लाा ने रैली व प्रचार रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली सीएमएचओ कार्यालय परिसर से रवाना होकर पुराना बस स्टैंाड, इंदिरा मार्केट, पोलसाय पारा चौक, पचरी पारा, नया बस स्टैं ड तक गयी। रैली में 300 से अधिक छात्राओं ने प्रतिभाग किया । रैली में छात्राएं एड्स के प्रति जागरूक रहने के संदेश देने वाले स्लोगन और थीम “असमानताओं का अंत करें, एड्स का अंत करें” का पोस्ट र लेकर चल रही थीं।
रैली का समापन वापस सीएमएचओ कार्यालय के सामने किया गया। वहां पर प्रतिभागियों द्वारा रेड रिबन की आकृति में मानव श्रृंखला बनाकर एचआईवी/ एड्स की रोकथाम का संदेश जन-जन तक पहुंचाया । एड्स से बचाव और एड्स को लेकर समाज में फैली भ्रांतियों को दूर करने के लिए नर्सिंग के छात्राओं के जन जागरूकता अभियान में सीएमएचओ कार्यालय, कचहरी चौक में नुक्कएड़ नाटक कर लोगों को बचाव की समझाइश दी गई। शाम को छात्रों ने कैंडल मार्च कर एचआईवी से मृत व्य्क्तियों को श्रद्वांजलि दी गई।
जिले में एड्स बीमारी की रोकथाम और बचाव के लिए पुरखा के सुरता लोक कला दल के माध्यिम से 60 जगहों पर नुक्क ड़ नाटक की प्रस्तुचति का भी शुभारंभ किया गया। इस मौके पर कार्यक्रम में प्रमुख रुपए से जिला स्वा।स्य््र एवं परिवार कल्याकण अधिकारी डॉ. सतीश मेश्राम, जिला प्रशिक्षण अधिकारी डॉ सुगम सावंत, जिला मलेरिया अधिकारी डॉ सीबीएस बंजारे, डीपीएम पद्माकर सिंदे, अनिता नायर, गणेश निर्मलकर, ओम प्रकाश साहू सहित एड्स नियंत्रण के अन्या कर्मचारी भी उपस्थित रहें।
27,909 लोगों की जांच में मिले 356 मरीज एचआईवी पॉजिटिव
जिला एड्स नियंत्रण अधिकारी डॉ. अनिल कुमार शुक्लाी ने बताया, “जिले में आईसीटीसी केंद्र व एआरटी सेंटरों के माध्यसम से इस वर्ष एक अप्रेल-2021 से अब तक दिसंबर 2021 में 27, 909 लोगों की एचआईवी की जांच की गई। जांच में 356 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है यानी इतने लोग संक्रमित मिले हैं। जिसमें से एआरटी में 328 मरीज रजिस्टतर्ड, 3 प्रवासी मजदूर, जेल में 4, दो ट्रक डाइवर भी एचआईवी संक्रमित मिले हैं। इस वर्ष जिला अस्प ताल व सीएचसी सहित स्वा्स्य्रव केंद्रों में एएनसी जांच करानी वाले 3,757 गर्भवती महिलाओं में से 9 की रिपोर्ट एचआईवी पॉजिटिव मिली हैं। संक्रमितों को जिला अस्पंताल के आईसीटीसी (एकीकृत परामर्श व जांच केंद्र)) व एआरटी (एंटी रेट्रो वायरल थेरेपी) सेंटर में काउंसलिंग कर जरुरी दवाइयां उपलब्ध कराई जा रही है। एचआईवी रोगियों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है जिसकी वजह से दूसरे संक्रमण उन्हें अपनी चपेट में ले लेते हैं। इसलिए जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने वाले को सतर्क और सावधानी बनाते हुए नियमित इलाज कराना जरुरी होता है।“
—-//—–

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *