वरिष्ठ पत्रकार चंद्रशेखर शर्मा की बात बेबाक, इलेक्ट्रानिक मीडिया की अपनी टी आर पी की भूख ने इन असभ्य बातो को खूब चटखारे ले कर प्राइम डिबेट का मौका परोस दिया है

चंद्रशेखर शर्मा 【पत्रकार 】9425522015
आज कल राजनीती की चौपाल पर राह भटके नवांकुरित बदजुबान नेताओ द्वारा खुले आम प्रयोग किये जा रहे अपशब्दों के प्रयोग व इलेक्ट्रानिक मीडिया की अपनी टी आर पी की भूख ने इन असभ्य बातो को खूब चटखारे ले कर प्राइम डिबेट का मौका परोस दिया है । अब टीवी पर समाचार और बहस देखने सुनने वाले बच्चों को कैसे संस्कार मिलेंगे समझ सकते है ।
टीवी पर होने वाली बहस को देख सुन माँ भी हमें डांटने लगी है कि बेटा
“टीवी पर नौटंकीबाज नेताओं के बहस वाले कार्यक्रम बच्चों को दिखाया सुनाया मत कर बच्चे गाली गलौच लड़ाई झगड़ा सीख जाएँगे ।”
राजनीति की चौपड़ पर बात महिला को वैश्या , हरामी ,  हरामखोर बोलकर अपमानीत करने से शुरू होती है । जो कई बार टी आर पी के चक्कर में बुद्धुबख्से वाले बिना सेंसर के दिखाते सुनाते रहते है और नौटंकीबाज नेता और कथित पैनलिस्ट कहने वाले को छोड़ आपस में नॉटी नॉटी खेल रहे हैं, ये कैसा विरोध या बहस है ?
क्या हो गया है इन खद्दरधारियों और टीवी पर बहस करने करवाने वाले पढ़े लिखे अपने आप  को बुद्धिजीवियो की जमात में खड़ा करने वालो को जो बात बात पर नॉटी नॉटी या दोगला दोगला कहने लगे है । दोगला  इतनी गम्भीर गाली है फिर भी इसह सभी कथित संस्कारी महिला पुरुष दनदनाते हुए बोल व एक दूसरे पर दागे जा रहे है ! इन होशियार के जनो को खुद मालुम नही की दोगला का मतलब हरामी , संकर और अंग्रेजी में Bastard होता है । ये गम्भीर गाली सीधी माता पिता को लगती है । इन्होंने नफरत में दोगला कहते कहते इसे आम कर दिया। दोगला का अर्थ ही बदल दिया । मतलब पूछो तो दोहरा चरित्र बताएंगे या दगाबाज़ बोलेंगे । दोगला के इस नए अर्थ का ईजाद कब किसने किया ये तो नहीं मालुम पर आज के समय में सब धड़ल्ले से उपयोग करते हैं । आज कल लोग अपने मतलब के हिसाब से अपनी भाषा और अपने अर्थ इज़ाद कर रहे है जैसे चूतिया जैसी गाली आम हो गयी है ।
अब तो ऐसा लगता है की राजनैतिक पार्टियो और उनके नेताओ और ऐसे वक्तव्य दिखाने वाले चैनलो को भी फ़िल्म सेंसर बोर्ड की तरह U , A या A/U के सर्टिफिकेट दिया जाना चाहिए ।

और अंत में :-
प्रश्न वही हैं जीवन के , बस सोच बदल दी है मैंने ।
तकदीर बदलने की जिद में , तस्वीर बदल दी है मैंने ।।
#जय_हो 16 सितंबर 2020 कवर्धा 【छत्तीसगढ़】

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *