संघर्ष की प्रतिमूर्ति मेहनतकश नारी शक्तियों का हुआ सम्मान ,महिला दिवस के पूर्व सँध्या संघर्षशील महिलाओं का साड़ी-श्रीफल सम्मान

 

*रायपुर, छत्तीसगढ़, दिनांक 7 मार्च 2021। सामाजिक कल्याण मंच (Organisation for Social Welfare ) के अध्यक्ष विवेक तनवानी ने कहा महिलाओं के लिए 8 मार्च का दिन खास होता है। इस दिन को देश और दुनिया भर अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है। जहाँ जगह जगह समाज की सफल और सशक्त महिलाओं का सम्मान किया जाता है। ऐसे में महिला दिवस के पूर्व सँध्या सामाजिक संस्था के सामाजिक कल्याण मंच के द्वारा तपती धूप में सड़क किनारे फल, सब्जी, मिट्टी के बर्तन बेचने वाली तथा सिलाई कढ़ाई कर संघर्ष करते हुए अपने परिवार का भरण पोषण करने वाली दर्जनों संघर्षशील महिलाओं का राजधानी में साड़ी-श्रीफ़ल देकर सम्मान किया गया।

इस दौरान सामाजिक संस्था के संयोजक अधिवक्ता भगवानू नायक कहा देश दुनिया और समाज का अस्तित्व नारी से है, जिनके बिना प्रगतिशील समाज की कल्पना नहीं की जा सकती। हमारे देश मे नारियों की पूजा की जाती है, हमारे धर्म मे धन की प्रतीक लक्ष्मी, ज्ञान की प्रतीक सरस्वती और शक्ति की प्रतीक दुर्गा के रुप में पूजा जाता है।

यहाँ देवी वीरांगना लक्ष्मीबाई, अहिल्याबाई होलकर, सावित्री बाई फुले, मदर टेरेसा, इला भट्ट, महादेवी वर्मा, राजकुमारी अमृत कौर, अरुणा आसफ अली, सुचेता कृपलानी, कस्तूरबा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री स्व इंदिरा गाँधी आदि जैसी प्रसिद्ध महिलाओं ने संघर्ष करते हुए अपना और देश का नाम रोशन किया है।

इस दौरान अध्यक्ष विवेक तनवानी ने कहा हमें हर महिला का सम्मान करना चाहिए, महिलाओं का अपमान, अवहेलना, भ्रूण हत्या और नारी की अहमियत को न समझना समाज की सबसे बड़ी भूल और कमजोरी है जिसे दूर किया जाकर समान समाज की स्थापना करने की मौजूदा समय मे अत्यंत आवश्यकता है।

सामाजिक कार्यकर्ता महिला नेत्री श्रीमती इंद्राणी साहू ने कहा रानी लक्ष्मी बाई ने अंग्रेजों को लोहे के चने चबाए, सावित्री बाई फुले ने महिला समाज मे शिक्षा की ज्योत जलाई, ममता मयी मदर टेरेसा ने दुनिया मे सेवा और शांति का संदेश दिया, देश की प्रथम महिला प्रधानमंत्री स्व इंदिरा गांधी ने अपने दृढ़-संकल्प के बल पर भारत व विश्व राजनीति को प्रभावित किया है। ऐसी नारी शक्तियों को नमन करती हूं।

आज महिला सम्मान कार्यक्रम में प्रमुख रूप से अधिवक्ता भगवानू नायक, विवेक तनवानी, श्रीमती इंद्राणी साहू, निर्मला धीवर, वंदना साहू, राजकुमारी ढीमर, कुंतीबाई कुम्हार, प्रमिला देवांगन, सुरेखा वर्मा, अनिता निषाद, सरला साहू, कुंती बाई, फूल बाई तांडी, उर्मिला निर्मलकर, लक्ष्मन पमनानी, बैकुंठ सोना, संतोष छत्री, आशीष रजक, जितेंद्र नायक, राहुल भोई, प्रेमानंद महानन्द,

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *