रोका छेका छःत्तीसगढ़ की पुरानी परंपरा है, शिशु पाल सोरी


कांकेर। छत्तीसगढ़ सरकार के महत्वपूर्ण योजना नरवा गरवा घुरवा बाड़ी के तहत दिनांक-01 जुलाई से पूरे छत्तीसगढ़ में रोका छेका का कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। कांकेर विकासखण्ड अन्तर्गत डुमाली, पोटगांव, बाबूदबेना तथा नरहरपुर विकास खण्ड में देवगांव, सारवण्डी गौठान में पहुंचे संसदीय सचिव एवं विधायक शिशुपाल शोरी का ग्रामवासियों ने बाजे-गाजे के साथ बड़े जोर शोर से स्वागत एवं सम्मान किया गया।                उक्त अवसर पर प्रवक्ता महेन्द्र यादव, सरपंच अखिलेन्द्र नेताम, ब्लाक अध्यक्ष रोहिदास शोरी, अजय ठाकुर, पुरूषोत्तम पाटिल, चैतराम भास्कर, राजू दुबे, हेमंत बघेल, योगेश राजपूत, शिवनारायण कुलदीप, लालचन्द्र जैन, अनिल मरकाम, रामचन्द्र नेताम, नवरन्त प्रताप भास्कर कासिम खान, गंगाराम कोड़ोपी, मनीराम सिन्हा, दरबारी धु्रव, माण्डवी दीक्षित, टकेश सिन्हा सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे ।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए विधायक शोरी ने कहा रोका छेका कार्यक्रम छत्तीसगढ़ की पुरानी परम्परा है उक्त परम्परा को बनाये रखने का प्रयास है एक समय था जब खेती किसानी के समय में ग्रामवासी आपस में बैैठकर चरवाहा नियुक्त करते थे ताकि किसानों के द्वारा लगाई फसलों को मवेशी नुकसान न पहुंचा सके साथ ही आज छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार गौैठान के माध्यम से लोगों के जीविकोपार्जन के केन्द्र के रूप में विकसित करने की दिशा में यह एक अनुकरणीय प्रयास है। गांव के लोगांे को रोजगार के अवसर मिले इसलिए गौैठानों में मुर्गी पालन, बदख पालन, मछली पालन, सब्जी उत्पादन, मशरूम उत्पादन, गोबर से खाद् निर्माण जैसे कई योजनाओं के माध्यम से समूह के लोगों को आर्थिक रूप से आत्म निर्भर बनाने के लिए कांग्रेस की सरकार कृत संकल्पित है। गौठान को विकसित करने की जिम्मेदारी समस्त ग्रामवासियों की है सरकार हरह संभव मदद करने को तैयार हैै किन्तु अमलीजामा पहनाने की जवाबदारी ग्रामवासियों की है। ग्राम गौठानो को मिनी व्यापार का केन्द्र के रूप में विकसित करने हेतु हम सबको सामुहिक रूप से त्याग कर कार्य करने की जरूरत है। देश में पहला सरकार है जो गोबर के महत्व को समझा और रासायनिक खाद से मानव शरीर को हो रही हानि से बचाने हेतु जैविक खाद की ओर लोगों का ध्यान आकर्षित करने का पहल किया। ग्राम पंचायत देवगांव के कोसुमपारा में सामुदायिक भवन हेतु 6.60 लाख रूपये, सारवण्डी गोंड़वाना भवन में टाईल्स एवं रेलिंग हेतु 3.00 लाख एवं जय माता शितला स्व सहायता समूह को हल्दी मिर्ची पिसाई मशीन एवं विधायक मद से पानी टेंकर ग्राम पंचायत देवगांव एवं सारवण्डी में प्रदान करने की घोषणा की गई। उपरोक्त जानकारी जिला कांग्रेस प्रवक्ता महेन्द्र यादव के द्वारा प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से दी गई ।
————-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *