महाराष्ट्र के सियासी गतिरोध पर शरद पवार का बयान: राष्ट्रपति, राज्यपाल कब तक इंतजार कर सकते हैं…

नई दिल्ली. महाराष्ट्र में जारी बीजेपी और शिवसेना में जारी सियासी गतिरोध के बीच एनसीपी प्रमुख शरद पवार का बड़ा बयान आया है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि महाराष्ट्र के लोगों ने भाजपा-शिवसेना और उनके सहयोगियों को स्पष्ट जनादेशदिया है और उन्हें सरकार बनानी चाहिए। रामदास अठावले और मेरे बीच इसी बात पर चर्चा हुई थी और हम दोनों इस पर सहमत थे। साथ ही उन्होंने कहा कि जिस तरह से सरकार बनाने में देरी की जा रही है, यह राज्य को आर्थिक और सामान्य तौर पर प्रभावित करेगा।
उन्होंने कहा कि पता नहीं क्यों महाराष्ट्र के राज्यपाल सबसे बड़े दल को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित नहीं कर रहे। राष्ट्रपति, राज्यपाल कब तक इंतजार कर सकते हैं, उन्हें कोई फैसला लेना ही पड़ेगा।
क्या है बीजपी-शिवसेना में झगड़े की वजह
महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी के बीच सत्ता की साझेदारी को लेकर झगड़ा फंसा है। शिवसेना जहां मुख्यमंत्री पद पर 50-50 फार्मूले की बाद कर रही है, वहं बीजेपी इससे इनकार कर रही है। शिवसेना का दावा है कि चुनाव से पहले ही बीजेपी के अमित शाह से इस पर समझौता हुआ था कि ढ़ाई-ढाई साल का मुख्यमंत्री होगा दोनों पार्टियों से। मगर देवेंद्र फडणवीस ने इस समझौते से इनकार कर दिया है।
क्या है विधानसभा चुनाव के नतीजे
288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा के हाल ही में घोषित चुनाव नतीजों में कोई भी पार्टी 145 सीटों के बहुमत के आंकड़े तक नहीं पहुंच पाई। इसके चलते सरकार गठन में देर हो रही है। चुनाव में भाजपा को 105, शिवसेना को 56, राकांपा को 54 और कांग्रेस को 44 सीटों पर जीत हासिल हुई है। गठबंधन कर चुनाव लड़ी भाजपा और शिवसेना को कुल मिलाकर 161 सीटें मिली हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *