Sunday, July 21

नियद नेल्लानार के तहत सुदूर ग्राम पानीडोबीर में लगा समाधान शिविर

मांगों और समस्याओं को लेकर बरसते पानी में पहुंचे ग्रामीण

कांकेर। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा माओवादी प्रभावित क्षेत्र के ग्रामीणों को शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं से जोड़ने के उद्देश्य से नियद नेल्लानार योजना चलाई जा रही है। इसी क्रम में कलेक्टर श्री नीलेश महादेव क्षीरसागर के निर्देशानुसार आज जिले के कोयलीबेड़ा विकासखंड के सुदूर बीहड़ क्षेत्र में स्थित ग्राम पानीडोबीर में समाधान शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में ग्रामीणों ने बरसते पानी में भी काफी संख्या में उपस्थित होकर विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों को अपनी मांगों और समस्याओं से अवगत कराया।

इस दौरान शिविर में उपस्थित एसडीएम पखांजूर श्री ए.एस. पैकरा ने राजस्व विभाग में प्राप्त आवेदनों का निराकरण करते हुए मौके पर 20 कृषकों को बी-वन, नक्शा, खसरा तथा 05 आवेदकों को जाति, निवास और आय प्रमाण पत्र बनाकर वितरित किया। लाभान्वित ग्रामीणों में सर्वश्री रायजूराम नवगो, लखन सिंह, मनीराम कुमेटी, राजेंद्र, पवन पिस्दा, वेद सिंह राणा शामिल थे। इसी तरह आधार समाधान केंद्र में 06 आवेदकों का आधार पंजीयन और अद्यतीकरण का कार्य किया गया। स्वास्थ्य विभाग की टीम के द्वारा मौके पर 34 ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण कर आवश्यकतानुसार उन्हें दवा वितरित की गई। साथ ही महिला एवं बाल विकास विभाग, वन, श्रम, खाद्य, कृषि, शिक्षा, आयुष, परिवहन विभाग सहित विभिन्न विभागों के द्वारा कैंप लगाकर दूरस्थ इलाके में स्थित ग्राम पानीडोबीर के अलावा खासपारा, हितुलबेड़ा, हुचाकोट के ग्रामीणों ने शिविर का लाभ लिया।

ग्राम पानीडोबीर में आज आयोजित समाधान शिविर में विभिन्न मांगों और समस्याओं से संबंधित कुल 66 आवेदन प्राप्त हुए। इनमें राजस्व एवं आदिवासी विकास विभाग को 31 आवेदन प्राप्त हुए। इसी तरह आवासीय भूमि पट्टा के 03, प्रधानमंत्री आवास योजना का 01, धान खरीदी केंद्र स्थापना का 01, सड़क एवं अन्य निर्माण कार्य से संबंधित 14, बोर खनन के 12, खसरा त्रुटि सुधार का 01, एमडीएम संचालन हेतु 01, स्कूल खोलने से संबंधित 2, बालिका आश्रम के लिए 01 आवेदन प्राप्त हुआ। इस अवसर पर जनपद पंचायत कोयलीबेड़ा के सीईओ श्री घनश्याम जांगड़े सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी, स्थानीय सरपंच के अलावा काफी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *