नक्सल प्रभावति तोकपाल की महिला कृषक सुनीता ने आधुनिक खेती से की 25 फीसदी मुनाफ

 

जगदलपुर, 18 मार्च 2021/(IMNB NEWS AGENCY) नक्सली आतंक वाला बस्तर अब धीरे धीरे लाल आंतक से मुक्त होता दिख रहा है। नक्सलवाद के पनपने का कारण जो भी नक्सलवाद से सीधे तौर पर अगर किसी को नुकसान हुआ है तो वह है बस्तर और वहां के रहवासियों का हलांकि नक्सली और पुलिस फोर्स के बीच दो पाटे में पीसते बस्तर वासी अपने लिए एक सादगी भरा मार्ग चुन रहे हैं। इसी कड़ी में जगदलपुर में परम्परागत खेती को छोड़कर आधुनिक खेती अपनाकर तोकापाल की महिला कृषक सुनीता ठाकुर ने तरक्की की राह चुनी। पिछले 15 सालों से अपनी पांच एकड़ जमीन पर परम्परागत खेती करने वाली सुनीता को आधुनिनक खेती अपनाने से 25 फीसदी मुनाफा बढ़ा है।
महिला को कृषि विभाग की विभिन्न योजनाओं जैसे हरित क्रांति क्रापिंग

बेस्ड सिस्टम एवं आत्मा योजनान्तर्गत धान की लाईन रोपा से खेती हेतु शासकीय अनुदान पर निःशुल्क बीज एवं आदान सामग्री उपलब्ध कराया गया। महिला कृषक की आर्थिक स्थिति में सुधार हुई महिला द्वारा वर्ष 2020-21 में 50 क्विंटल धान का विक्रय सर्मथन मूल्य पर किया गया। जिससे महिला को 94 हजार 300 रूपए की आमदनी प्राप्त हुई एवं 20 क्विंटल धान का प्रयोग कृषक परिवार द्वारा स्वयं के उपयोग हेतु लिया जा रहा है।
राज्य शाासन के महत्वाकांक्षी योजना गोधन न्याय योजनान्तर्गत महिला द्वारा 10 क्विंटल गोबर बिक्री कर 2 हजार रूपए आय प्राप्त किया गया। साथ ही महिला द्वारा गोठान में वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन हेतु गठित स्व-सहायता समूह के सदस्य के रूप में कार्य करते हुए समूह द्वारा 04 क्विंटल खाद उत्पादन कर लेम्प्स में विक्रय किया गया है। जिससे कुल राशि 1 हजार 350 रूपए का लाभ प्राप्त किया गया। महिला की आर्थिक स्थिति में सुधार देखकर ग्राम की अन्य महिलाएं भी प्रोत्साहित होकर आधुनिक खेती की ओर अग्रसर हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *