सुरेश्वर महादेव पीठ, भागवत कथा,भारतवर्ष में तीन भरत हुए है कैकई नंदन शकुंतला नंदन ऋषभदेव के पुत्र इनके नाम से ही भारत वर्ष पड़ा

आज श्री सुरेश्वर महादेव पीठ में चल रही श्रीमद्भागवत कथा के चतुर्थ दिवस पर भागवताचार्य कामता प्रसाद तिवारी जी ने बताया कि भारतवर्ष में तीन भरत हुई है कैकई नंदन शकुंतला नंदन ऋषभदेव के पुत्र इनके नाम से ही भारत वर्ष पड़ा एवं भगवान नारायण के नाम की महत्वता प्रतिपादित करते हुए अजामिल जैसा पापी अंतिम में पुत्र के बहाने उच्चारण किया जिसके कारण उसे मोक्ष प्राप्ति हुई एवं प्रह्लाद चरित्र का वर्णन हुआ
दैत्य कुल में जन्म लेने के बाद भी भगवान को प्रकट किया भगवान नरसिंह रूप धारण करके हिरण्यकश्यप का वध किया एवं उसके समस्त कुल का उद्धार किया एक भी भक्त यदि अपने कुल में जन्म ले टॉपने कुल का 21 पीढ़ियों का उद्धार हो जाता है
जिसमें आज प्रमुख रूप से स्वामी राजेश्वरानंद जी उमाकांत मिश्रा गोपाल शर्मा हरीश भाटिया राजकुमार दाधीच महेश दाधीच राकेश धोत्रे एवं सर्वमंगला ग्रुप से काफी संख्या में महिलाओं की उपस्थिति रही

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *