Tag: it is difficult to forget Prof. Jayanarayan Pandey.

20 जनवरी पुण्यतिथि पर   “मुश्किल है, प्रो जयनारायण पांडेय को भूलना ’’
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर, लेख-आलेख

20 जनवरी पुण्यतिथि पर “मुश्किल है, प्रो जयनारायण पांडेय को भूलना ’’

 0 गिरीश पंकज  (वरिष्ठ पत्रकार,सहित्यकार) इस महादेश में अनेक महापुरुष ऐसे भी हुए हैं,जिन पर समय-समय पर उतनी चर्चा नहीं होती, जितनी होनी चाहिए। ऐसे ही एक महान समाजवादी व्यक्तित्व का नाम है, प्रो. जयनारायण पांडेय, जिनके नाम से आज रायपुर एक बड़े उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का नामकरण भी हो चुका है। यह वही विद्यालय है, जहां भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति हिदायतुल्लाह ने भी अध्ययन किया था। आज से तीन दशक पहले तक मैं पांडेय जी के साहित्यिक, वैचारिक चिंतन और पत्रकारीय अवदान से परिचित नहीं था। लेकिन जब मैंने उनके इतिहास को देखा, तो अभिभूत हो गया।  राजनीति विज्ञान, हिंदी,अंग्रेजी, संस्कृत और समाजशास्त्र के गहन अध्येता प्रखर समाजवादी सोच वाले जयनारायण जी का जन्म 30 दिसंबर 1925 को रामापुर (इलाहाबाद) में हुआ, और 20 जनवरी 1965 को बनारस में निधन। मगर उनकी कर्मभूमि रायपुर रही। पिता संस्कृत के प्रकांड पंडित ...