Tag: ko-rona-se-bach-gaye-tojivan-nihal-hai

भाजपा नेता अशोक बजाज की कविता -कोरोना से बच गए तो, जीवन निहाल है
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

भाजपा नेता अशोक बजाज की कविता -कोरोना से बच गए तो, जीवन निहाल है

  कविता - *कोरोना से बच गए तो, जीवन निहाल है*         रायपुर भाजपा नेता अशोक बजाज अपनी तुकबंदी और फोटोग्राफी के लिए मशहूर हैं उनके द्वारा चर्चित हुआ एक नारा नशा हैै  खराब,,,, झन पीहू शराब ,,,काफी चर्चित रहा शराब को लेकर उनके द्वारा दिया गया नारा शराबबंदी आंदोलन में जन जागरूकता का काम किया इस बीच कोरोना काल मे उनका उनकी कविता आ गई है।.                                                                                                        यह कोरोना काल है, दुनिया में भूचाल है, घर से बाहर ना निकलें, जी का जंजाल है। पर किसने किसकी मानी है, घर में रहने की ठानी है, जब फैल गया कोरोना तो, हर बस्ती में वीरानी है। चारों ओर हाहाकार है, मरीजों की चीत्कार है, दवा नहीं बनेगी, तब तक डॉक्टर भी लाचार हैं। सूना सूना बाज़ार है, ऑनलाइन व्यापार है, काम-धंधा कब करें, चिंतित हर परिवार है। ...