Tag: Now movement is a crime because we have a secret! (Article: Badal Saroj

अब आंदोलन अपराध है, क्योंकि हमारा राज है! (आलेख : बादल सरोज)
खास खबर, देश-विदेश, लेख-आलेख

अब आंदोलन अपराध है, क्योंकि हमारा राज है! (आलेख : बादल सरोज)

? बिहार के, अब सिर्फ नाम भर के, मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने फतवा जारी किया है कि अब जो भी किसी धरना, चक्का जाम या किसी आंदोलन में भाग लेगा, उसे न नौकरी दी जायेगी, न कोई ठेका दिया जायेगा, न किसी भी तरह की सरकारी योजनाओं का ही लाभ दिया जायेगा। जनता के आंदोलनों के प्रति इस तरह का मौलिक नुस्खा अंग्रेजों के जाने के बाद पहली बार किसी सरकार ने आजमाया है। नितीश बाबू खुश हो सकते हैं कि कुछ ही दिन बाद उनके परिधानजीवी-कारपोरेट परजीवी प्रधानमंत्री जी ने "आन्दोलनजीवी" शब्द गढ़कर उनके इस नायाब नमूने को "सैध्दांतिक महत्ता" प्रदान की है। ? मजेदार विडंबना की बात यह है कि मोदी और नीतीश कुमार की प्रजाति के प्राणी, जहां आज हैं वहाँ, इसी तरह के आन्दोलनों से निकल कर पहुंचे हैं। वे अपनी योगदान और उपलब्धियों में यह बात बार-बार गिनाते भी रहते हैं। चाहे वह जयप्रकाश आंदोलन की जमाने की कहानियां हो, चाहे वह इमरजे...