Tag: Sukma farmers are beginning to innovate in farming: Steps towards potato cultivation and coconut production

बस्तर बदूंक नहीं खेती,किसानी,पशुपालन से बदल रहा जनजीवन ,खेती में नवाचार करने लगे है सुकमा के किसान आलू की खेती और नारियल उत्पादन की ओर बढ़ा रहे कदम
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, लेख-आलेख

बस्तर बदूंक नहीं खेती,किसानी,पशुपालन से बदल रहा जनजीवन ,खेती में नवाचार करने लगे है सुकमा के किसान आलू की खेती और नारियल उत्पादन की ओर बढ़ा रहे कदम

रायपुर, 15 फरवरी 2021/ नक्सल प्रभावित बस्तर इन दिनों तेजी से बदल रहा है। बदूंक के जगह हल पकड़ रहा है बस्तरिया और पशु पालन ,मछली पालन के साथ साथ सुकामा जिले के किसान धान, मक्का और सब्जी-भाजी की खेती के अलावा अब आलू की खेती और नारियल का बागान तैयार करने लगे है। अब वे खरीफ एवं रबी फसलों की खेती के साथ-साथ कृषि आधारित अन्य आयमूलक गतिविधियों जैसे- मछली पालन, कुक्कुट पालन, पशुपालन को अपनाकर अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने में जुटे है। किसानों के इस प्रयास में छत्तीसगढ़ शासन की सुराजी गांव योजना से बड़ी मदद मिली है। नाला (नरवा) के उपचार से वनांचल में जल उपलब्धता और सिंचाई का रकबा बढ़ा है, जिसका सीधा लाभ खेती-किसानी को हुआ है। नहर, नालियों के निर्माण एवं जीर्णोद्धार और ट्यूबवेल से सिंचाई सुविधा का लाभ उठाकर सुकमा अंचल के कृषक अब दोहरी फसलों के साथ-साथ नगदी फसलों की खेती करने लगे है। जिला मुख्या...