(IMNB बस्तर ब्यूरो के शशि धरन की खास रिपोर्ट)बडेओडागांव की धर्मान्तरण मामला को सर्व समाज बैठक से ईसाई धर्म अपनने वाली महिला को मूल धर्म में वापस लाने सफल

*ईसाई धर्म प्रचार के खिलाफ कार्यवाही हेतु पंचायत प्रतिनिधि ने थाना प्राभारी को शिकायत दी*

*केशकाल।* केशकाल ब्लॉक के धनोरा एवं ईरागांव पुलिस थाना क्षेत्र में मूल धर्म आदिवासी भाईयों को ईसाई धर्म प्रचारक द्वारा गांव-गांव में प्रार्थना सभा कर आदिवासी भाई-बहनों को अपना मूल धर्म से इसाई धर्म में धर्मान्तरण करने का लगातार क्षेत्र से शिकायते प्राप्त हो रहा है, इस प्रकार धनोरा क्षेत्र के कई आदिवासी भाई बहन परिवार इसाई धर्म अपनाने का जानकारी विश्वस्त सूत्रों से प्राप्त हुआ है, इसी प्रकार पुलिस थाना धनोरा एवं तहसील फरसगांव अंतर्गत ग्राम बडेओडागांव के एक अदिवासी परिवार के पति एवं पत्नी के बीच झगडा एवं विवाद बढने का जानकारी जिला प्रशासन कोण्डागांव को मिलने पर तहसीलदार फरसगांव एवं एस.डी.ओ.पी. केशकाल के साथ बड़ी संख्या में पुलिस घटना स्थल बडेओडागांव में पहॅुचकर पीडित परिवार के पति एवं इनके पत्नी के बीच सैकडों संख्या में ग्रामीणों के उपस्थिति में स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों ने पति व पत्नी से अलग-अलग चर्चा कर झगडा व तनाव का कारण जानने पर पीडित पति ने उपस्थित अधिकारियों के समक्ष जानकारी दी है, कि वे शादी शुदा है, जो आदिवासी समाज से जुडे है, तथा शादी के बाद दोनो दंपत्ति से 3 बाल बच्चा भी है, किन्तु उनके पत्नी आदिवासी समाज का नियम मर्यादा को भूलकर ईसाई धर्म की प्रार्थना सभा में जाती है, जो पति को मान्य नहीं है, पत्नी ने कहा कि मुझे कोई भी ईसाई समाज में शामिल नहीं किया है, बल्कि मैं स्वयं अपने इच्छा से जा रही हॅू। उसे लेकर मेरे पति मुझसे झगडा करता है, दोनो पक्षों के कथन सुनने के बाद पति एवं पत्नी ने भविष्य में झगडा नहीं करने का वादा लिखित रूप से हस्ताक्षर कर तहसीलदार मानकर साहब फरसगांव को दी यह राजीनामा समझौता के तहत स्थानीय प्रशासन से पति पत्नी के झगडा को राजी नामा कर सुलझाया गया किन्तु स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी ने इस बात को इनकार किया कि इस संबंध में कोई लिखित शिकायत पुलिस थाना धनोरा अथवा तहसीलदार फरसगांव को नहीं मिला है, घटना दिनांक 09 जनवरी 2022 को ग्राम ओडागांव का पति व पत्नी झगडा मामला को स्थानीय प्रशासन राजी नामा कर सुलझाने पर स्थानीय व जिला प्रशासन ने राहत सांस ली। स्थानीय प्रशासन आपसी समझौता के बाद सर्व समाज ने पति पत्नी को मूल धर्म में लाने सफल ।

*संलग्न फोटो:- प्रशासनिक अधिकारी के साथ पीडित परिवार व ग्रामीण जन*

*ईसाई धर्म पास्टर के खिलाफ सरपंच सहित पुलिस थाना धनोरा में शिकायत दी*

रहा सवाल पति व पत्नी के बीच मूल झगडा पत्नी ईसाई धर्म अपनाने को लेकर रहा मामला था आदिवासी समाज एवं हिन्दु धर्म की मामले की जानकारी सर्व समाज प्रमुखों को मिलने पर सर्व समाज के ओर से दिनांक 10 जनवरी 2022 को घटना ग्राम बडेओडागांव में बैठक रखा गया। बैठक में सर्व समाज के जिला इकाई अध्यक्ष मनहेर कोर्राम, गोण्डवाना समाज के जिला कार्यकारिणी सदस्य झाडीराम सलाम, नवल कोर्राम, संतोष उईके, (पटारी समाज अध्यक्ष) बडेओडागांव पंचायत की सरपंच इनके पति तथा वीरेन्द्र बघेल जनपद सदस्य ,रामेश्वर उईके, कांतीलाल साहू, दया सागर उईके, देवानंद सोनवानी, संपत नाग राजेन्द्र सिन्हा बंसत कुमार सिन्हा, बंसत कुमार सिन्हा, करण कोर्राम सहित सैकडों सर्व समाज के ग्रामीण जन उपस्थित रहे। उपस्थित सभा में सर्व समाज सभा में आदिवासी समाज के दोनो पति व पत्नी को बुलाकर घटना क्रम की विस्तृत जानकरी लेकर ईसाई धर्म से महिला को अपने मूल आदिवासी देवी देवता में वापस लाकर दोनो को मिलाया व वापस घर परिवार में मिलाया गया है सर्व समाज की बैठक में यह प्रस्ताव पारित हुआ कि बाहर से पास्टर गांव में धर्म परिवर्तन सभा करने पर रोक लगाने का प्रस्ताव हुआ है, तथा पास्टर के खिलाफ कार्यवाही हेतु सरपंच उपसरपंच सहित उपस्थित समाज प्रमुखों के हस्ताक्षर युक्त शिकायत थाना प्रभारी धनोरा को दिनांक 10 जनवरी 2022 को प्रेषित करते हुए कार्यवाही की मांग की है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.