Wednesday, June 19

नारायणपुर,बलरामपुर में धर्मांतरण मामले की राज्य सरकार करे निष्पक्ष जांच- वृंदा करात

0मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा जाएगा
रायपुर। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी पोलित ब्यूरो सदस्य ओर सांसद रह चुकी वरिष्ठ नेत्री वृंदा करात रायपुर प्रेस क्लब में आयोजित रूबरू कार्यक्रम में शामिल हुई। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय आदिवासी अधिकार मंच की ओर से पिछले दिनों बलरामपुर के साथ ही कोंडागांव कांकेर ओर नारायणपुर में उन्होंने तीन दिनों तक दौरा किया । धर्मांतरण के मामले में पिछले दिनों जो घटनाए हुई उसकी जांच के लिए यह दौरा किया गया । उनके साथ माकपा के वरिष्ठ नेता धर्मराज महापात्र ओर आदिवासी एकता महासभा के बाल सिंह भी गए हुए थे । इस प्रतिनिधिमंडल ने इस मामले में सभी पक्षों के लोगो से बातचीत की । चर्च के प्रमुखों आदिवासी समुदाय के पीड़ितों , प्रमुख लोगो , पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ओर अन्य सभी वर्ग के लोगों से बातचीत की । इस दौरान उन्होंने यह पाया कि वहा धर्मांतरण नहीं हो रहा । लोगो में तनाव है सामान्य स्थिति नहीं है । जो लोग सभी समुदायों के बीच काम करते है उन्होंने कहा कि गरीब तबकों पर हमले हो रहे है । लोग तनाव में जी रहे है । अब तक राज्य शासन के एक भी मंत्री वहा नहीं गए । सब कुछ निरंकुश सा है निर्शकर्श पर काम होगा। इतने दिनों के बाद भी मंत्री नहीं गए। लोगो ने बताया कि शवो को दफनाने के बाद बाहर फेंक रहे ये घटनाए ठीक नहीं है । । जनजाति सुरक्षा समिति के लोग कह रहे है कि यह राजनीतिक मुद्दा है । इंसानियत को एक तरफ रख कर तनाव फैलाया जा रहा है । उन्होंने पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग राज्य सरकार से की है । उनके प्रतिनिधिमंडल ने जो जांच रिपोर्ट तैयार की ओर जो मांग है । उससे संबंधित रिपोर्ट ओर ज्ञापन को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को देंगे।बलरामपुर में पिछले दिनों हुए दो समुदायों के बीच विवाद की जांच के लिए माकपा के प्रतिनिधिमंडल ने वरिष्ठ नेत्री वृंदा करात की अगुवाई में जो रिपोर्ट तैयार की गई है उसके आधार पर उन्होंने राज्य सरकार से पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है । साथ ही इससे संबंधित ज्ञापन दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *