सावित्री की शिकायत पर महिला आयोग ने किया कार्यवाही, सीएमओ ने किया जिला अस्पताल अधीक्षक को जवाब तलब, 07 दिन के अंदर जवाब प्रस्तुत करने का निर्देश, गर्भवती महिलाओं को मिले बेहतर ईलाज और सम्मान –

 

मामला – कोरोना पीड़ित गर्भवती महिला को अस्पताल से बाहर निकालने पर गर्भवती महिला ने अस्पताल परिसर में दिया था शिशु का जन्म।

रायपुर, छत्तीसगढ़, दिनांक, 4 अक्टूबर 2020। छत्तीसगढ़ उत्कल महिला महामंच की प्रदेश अध्यक्ष, समाजिक कार्यकर्ता श्रीमती सावित्री जगत ने विगत दिनों जिला अस्पताल रायपुर अधिकारी एवं कर्मचारी के द्वारा कोरोना पॉजिटिव गर्भवती महिला को जिला अस्पताल से बाहर निकाल जाने के कारण दर्द से तड़पती हुई गर्भवती महिला ने अस्पताल के परिसर में ही अपने शिशु को जन्म देने की सूचना मीडिया से मिलने के तत्काल बाद छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग में शिकायत किया था ।

उक्त शिकायत को गम्भीर मानते हुए छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग (प्रक्रिया) विनिमय 1908 के नियम (1) के तहत शिकायत ग्राहय होने के कारण महिला आयोग द्वारा पंजीकृत किया गया है ।

सावित्री जगत ने बताया सम्बंधित शिकायत प्रकरण पर छग राज्य महिला आयोग रायपुर के द्वारा सीएमओ रायपुर को आवश्यक कार्यवाही हेतु पत्राचार किया। जिसका अनुपालन करते हुए सीएमओ रायपुर के द्वारा सावित्री जगत के शिकायत पत्र के साथ सिविल सर्जन सह अस्पताल अधीक्षक जिला चिकित्सालय रायपुर को उपरोक्त संबंधित प्रकरण पर नियमानुसार जांच कर जांच प्रतिवेदन अपने अभिमत सहित जाँच प्रतिवेदन के आधार पर की गई कार्यवाही 07 दिन के अंदर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

श्रीमती सावित्री जगत ने कहा स्वास्थ्य, शिक्षा और रोजगार , प्रत्येक नागरिक का मौलिक अधिकार है उससे कोई हमें वंचित नहीं कर सकता।

श्रीमती श्रीमती जगत ने कहा शासकीय अस्पताल आम जनता के लिए बना है, उस पर किसी का निजी स्वामित्व या एकाधिकार नहीं है , किसी पीड़ित या बीमार व्यक्ति को बलपूर्वक बाहर निकालने का किसी को अधिकार नहीं है। विशेषकर गर्भवती महिलाओं को सम्मान के साथ बेहतर इलाज की किया जाना चाहिए।

सावित्री जगत
प्रदेश अध्यक्ष
छत्तीसगढ़ उत्कल महिला महामंच

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *