विस अध्यक्ष डा महंत ने मंगलवार को सत्रावसान घोषणा कर भाजपा सदस्यों का निलंबन समाप्त कर दिया

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र का अंतत: जैसे की संभावना व्यक्त की जा रही थी समय से पहले ही सत्रावसान हो गया। विधानसभा अध्यक्ष डा.चरणदास महंत ने मंगलवार को इसकी घोषणा कर दी। इसके साथ ही उन्होंने भाजपा सदस्यों का निलंबन भी समाप्त कर दिया, उन्होंने बजट सत्र के सुव्यवस्थित संचालन के लिए सभी सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त किया। अब विधानसभा का अगला सत्र जुलाई के अंतिम सप्ताह में होगा।इसके पहले आज विधानसभा में भाजपा विधायकों की गैर मौजूदगी में विनियोग विधेयक सदन में पारित हो गया है। वहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विपक्ष पर लगातार सदन को बाधित करने के लिए अडग़ेबाजी का आरोप लगाया।
सदन में विनियोग विधेयक पर बोलते हुए सीएम भूपेश बघेल ने सदन में कहा कि इस साल हमारी सरकार का तीसरा बजट आया है -गढ़बो नवा छत्तीसगढ-। वर्ष 2021-22 का बजट हमारी आय बढ़ाने वाला बजट है, इस बजट के साथ हमे नया अध्याय लिखना है। जब हम विपक्ष में थे तो भाजपा के लोग हमें ताना मारते थे लेकिन अब खुद 14 सीट पर सिमट के रह गए हैं, हम हर विषय पर चर्चा के लिए तैयार है लेकिन चर्चा से विपक्ष भाग रही है।बघेल ने कहा कि विपक्ष की हठधर्मिता के कारण सत्र का अवसान जल्दी हो रहा है, हमारी सरकार ने सभी वर्गों को साथ लेकर चलने की कोशिश की है।राज्य बनने के बाद पहली बार छत्तीसगढिय़ा लोगों के हितों में काम हो रहा है, लगातार विपक्ष प्रदेश के विकास में अड़ंगा डालने की कोशिश कर रहा है, विपक्ष को छत्तीसगढ़ से कोई लेना देना नहीं है, विपक्ष शोषकों के साथ है। हमने लगातार छत्तीसगढ़ महतारी के लिए काम किया है आगे भी करेंगे, विपक्ष के पास सदन में अपनी बात रखने के लिए कोई विषय बचा भी नहीं, हमारी सरकार प्रदेश को आगे बढ़ाने की दिशा में आगे बढ़ रही है।
इस दौरान सीएम भूपेश बघेल ने विधानसभा में किसानों को न्याय योजना की राशि देने फिर से मंत्रिमंडलीय उपसमिति गठित करने की घोषणा की। विनियोग विधेयक पर भाषण के दौरान सीएम ने यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार अपने वादों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है, उपसमिति अब न्याय योजना के राशि आबंटन को लेकर फैसला करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *