विद्यामितान अनियमित कर्मचारियों पर बर्बर लाठीचार्ज का महासंघ ने किया निंदा 11 को रैली

प्रदेश के अनियमित कर्मचारी/अधिकारी अपनी 5 सूत्रीय मांगों यथा नियमितीकरण, विगत 4-5 वर्षों से निकाले गए अनियमित कर्मचारियों को बहाल करने, छटनी न किये जाने, शासकीय सेवाओं में आउटसोर्सिंग/ठेका प्रथा को पुर्णतः समाप्त कर कर्मचारियों का समायोजन करने, अंशकालिक कर्मचारियों को पूर्णकालीन करने तथा 15 अनियमित कर्मचारियों पर न्यायालय में चल रही मुकदमें को वापस लेने को लेकर निरंतर संघर्षरत है।

उल्लेखनीय है माननीय मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस वरिष्ठ जनप्रतिनिधि हमारे संघर्ष के दिनों में हमारे मंच में आये और उनकी सरकार बनाने पर 10 दिवस में हमें नियमित करने का वादा किया तथा दिनांक 14.02.2019 को अनियमित कर्मचारियों के मंच से पुनः इस वर्ष किसानों के लिए, आगामी वर्ष कर्मचारियों के लिए बात कही परन्तु आज सरकार के 2 वर्ष पूर्ण होने को है फिर भी हम अनियमित है।

इसके विपरीत विगत 40 दिनों से अधिक समय तक शांतिपूर्ण तरीके से आन्दोलन कर रहे विद्यामितान अनियमित कर्मचारियों पर 5 दिसम्बर को अपनी मांगो को लेकर शिक्षा मंत्री के निवास के घेरने पहुंचना चाहते थे पर पुलिस प्रशासन द्वारा बलपूर्वक रोक दिया गया तथा आन्दोलनकारी अनियमित कर्मचारियों पर बर्बर लाठी चार्ज किया | महासंघ इस बर्बर कार्यवाही का घोर निंदा करता है|

सरकार द्वारा वादे के विपरीत अनियमित कर्मचारियों की छटनी एवं सीधी भर्ती की जा रही है, अनेक विभागों में कार्यरत अनियमित कर्मचारियों के विगत कई महीनों से वेतन नहीं दिया जा रहा है, दूसरी ओर सरकार विधायकों का भत्ता दोगुना कर रही है| इस भेदभाव पूर्ण रवैया से प्रदेश में कार्यरत अनियमित कर्मचारी/अधिकारियों में भारी रोष, असंतोष व्याप्त है तथा प्रशासन के इस कृत्य से कर्मचारियों के मन में यह सवाल पैदा होता है कि इसी तरह से छटनी एवं नई भर्ती जारी रहेगी तो नियमितीकरण किसकी और कैसे होगी।

महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष गोपाल गिरी गोस्वामी ने बताया कि छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन द्वारा 11 दिसम्बर को आयोजित वादा निभाओ रैली में अपने अपने 50 से अधिक सहायक संगठनों के साथ अपनी नियमितीकरण, छटनी बंद करने, छटनी किये गए साथियों के बहाली के साथ सम्मिलित होने जा रही है| आपके माध्यम से प्रदेश के शासकीय विभागों में कार्यरत अनियमित कर्मचारियों से अपील करता है कि इस रैली में नई ऊर्जा के साथ अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होवें|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *