शमशान घाट में अधजले शवों का मामला गम्भीर ग्रामीणों में आक्रोश, नाकामियों को छिपाने शिकायकर्ताओ पर FIR जेसीसी ने किया विरोध

 अपने गलतियों पर पर्दा डालने का काम कर रही है नगर निगम,
रायपुर, छत्तीसगढ़ दिनांक 25 अप्रैल 2021 जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के  मुख्य प्रवक्ता अधिवक्ता भगवानू नायक ने कहा की राजधानी रायपुर के सड्डू क्षेत्र में  बहुत ही संवेदनशील मामला सामने आया है।  एक वीडियो सोशल मीडिया में और  प्रिंट मीडिया में प्रमुखता से समाचार प्रसारित और प्रकाशित  हुआ है कि सड्डू क्षेत्र के शमशान घाट से अधजले शवों कुत्तों के द्वारा खाया जाता है। इस सम्बंध में जारी  वीडियो में ग्रामीण खुद कर रहे हैं कि अधजले शव के अवशेष को कुत्ते खाते है और गांव तक भी लेकर आते है जिस कारण ग्रामीणों में आक्रोश है ।  ऐसी स्थिति में इस मामले को लेकर दो ग्रामीण युवकों के द्वारा जब मामला उठाया गया तब उक्त मामले को आनन-फानन में दबाने के लिए उन पर ही दबाव बनाया जा रहा है और आज विधानसभा पुलिस थाना के द्वारा नगर निगम के  आवेदन पर  शिकायकर्ता युवकों के विरुद्ध ही उल्टे एफआईआर कर दी गई है।
भगवानू नायाक  ने उक्त कार्रवाई की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए और अपनी गलती पर पर्दा डालते हुए  नगर निगम के द्वारा  निर्दोष युवकों का पर एफआईआर करवाई गई है जो गौरवाजिब है और खात्मा खारिजी किए जाने योग्य है।
भगवानू नायक ने उक्त मामले को बहुत ही गंभीर और संवेदनशील बताते हुए उक्त मामले की उच्च स्तरीय कर दोषी अधिकारी कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही करने  मांग की है।
 भगवानू नायक ने कहा कि प्रदेश में आज आम जनता की दुर्दशा किसी से छिपी नहीं है कोरोना काल में हर मोर्चे में फेल सरकार कोरोना संक्रमित मृत व्यक्तियों के सम्मान भी नहीं कर पा रही है और ना ही सम्मान के साथ उनका अंत्योष्टि जबकि जीवित व्यक्ति की तरह मृत व्यक्ति को भी भारतीय संविधान के अनुच्छेद 21 में मौलिक अधिकार प्राप्त और शव का अपमान और अवहेलना आईपीसी की धारा 297 के अंतर्गत एक गैरजमानतीय अपराध है और इसके लिए अपकृत्य विधि के अंतर्गत पीड़ित परिजन न्यालालय में क्षतिपूर्ति के लिए आवेदन भी प्रस्तुत कर सकते है। इसके अतिरिक्त विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा भी कोरोना से मृतको का सम्मान के साथ अंतिम संस्कार करने का गाईडलाइन जारी किए है और अनेक उच्च न्यायालयों ने इस सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए है जिसका उचित पालन प्रशासन के द्वारा नहीं किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *