छत्तीसगढ़ के आंगनबाड़ी केन्द्रों में जोर-शोर से मनाया जा रहा वजन त्यौहार

रायपुर (IMNB)। छत्तीसगढ़ के आंगनबाड़ी केन्द्रों में जोर-शोर से वजन त्यौहार मनाया जा रहा है। वहीं स्कूली बच्चे भी पढ़ाई-लिखाई के लिए मोहल्ला क्लास में जुट रहे हैं। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ.प्रेमसाय सिंह टेकाम ने आज अभनपुर विकासखण्ड के ग्राम झांकी में संचालित मोहल्ला क्लास और आंगनबाड़ी केन्द्र का औचक निरीक्षण किया। उल्लेखनीय है कि राज्य में कुपोषण में कमी लाने के लिए वजन त्यौहार का आयोजन 7 जुलाई से 16 जुलाई तक किया जा रहा है। इसी प्रकार कोरोना संकट काल में स्कूली बच्चों की शिक्षा निरंतर जारी रखने के लिए मोहल्ला क्लास का आयोजन किया जा रहा है।
मोहल्ला क्लास के निरीक्षण के दौरान स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ.टेकाम बच्चों से रूबरू हुए और उनसे पढ़ाई-लिखाई के बारे में चर्चा की। बच्चों ने उन्हें पाठ पढ़कर सुनाया और उनके सवालों के उत्तर दिए। बच्चों ने यह भी बताया कि गर्मियों की छुट्टियों में आमराईट परियोजना के अंतर्गत विभिन्न प्रोजेक्ट का कार्य दिया गया था। स्कूल शिक्षा मंत्री ने बच्चों से पाठ्य पुस्तक वितरण की भी जानकारी ली और बच्चों को नियमित कक्षा में आने और अधिक समय तक कक्षा में पढ़ाई का नियमित अभ्यास करने की समझाईश दी। उन्होंने स्थानीय जनप्रतिनिधियों से मोहल्ला क्लास से अधिक से अधिक बच्चों को जोड़ने के लिए प्रयास करने को कहा। इस दौरान शिक्षकों ने बताया कि मोहल्ला क्लास में बच्चे अलग-अलग पालियों में पढ़ने के लिए आते हैं। बच्चों को जुलाई माह में पिछली कक्षा के महत्वपूर्ण टॉपिक को फिर से दोहराया जा रहा है। ताकि यह बच्चे वर्तमान कक्षा के स्तर अनुसार आगे की पढ़ाई कर सके।
आंगनबाड़ी केन्द्र के निरीक्षण के दौरान स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा कि कुपोषण मुक्ति अभियान के लिए वजन त्यौहार के लिए आवश्यक है। इसका लाभ निश्चित रूप से समाज को मिलेगा। उन्होंने 5 वर्ष तक के सभी बच्चों का अनिवार्य रूप से वजन कराकर उनके सुपोषण स्तर का मूल्यांकन कराने और किशोरी बालिकाओं का हीमोग्लोबिन जांच की अपील की। वजन त्यौहार कार्यक्रम में बच्चों की माताओं से आंगनबाड़ी में मिलने वाले लाभ की जानकारी ली। आंगनबाड़ी केन्द्र में 80 बच्चे का वजन और ऊंचाई का माप लिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *