पश्चिम बंगाल: राज्यपाल और सरकार के बीच बढ़ा टकराव

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के साथ गतिरोध और अधिक गहराने के मद्देनजर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने आज विधानसभा भवन पहुंचे जहाम उन्हें बंद फाटक तीन के सामने इंतजार करना पड़ा। राज्यपाल धनखड़ ने पूछा कि फाटक बंद क्यों है? विधानसभा स्थगित होने का मतलब सदन बंद होना नहीं है। मैं यहां यह देखने के लिए हूं कि संविधान का सम्मान किया जाए। जब मैं यहां आया तो गवर्नर और अन्य VVIPS के लिए गेट बंद था, लेकिन मैं एक गेट के माध्यम से अंदर गया जिसे खोला गया था। विधानसभा सचिवालय पूरे साल खोला जाता है। हालांकि बाद में उन्होंने गेट 1 से विधानसभा में प्रवेश किया।
राज्यपाल ने बुधवार को कहा कि उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी को पत्र लिख कर कहा कि वह विधानसभा की सुविधाओं का जायजा लेने विधानसभा जाएंगे और पुस्तकालय भी जाएंगे। इससे पहले दिन में उन्होंने तृणमूल कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा था कि वह संविधान का पालन कर रहे हैं और ‘रबड़ स्टांप’ नहीं हैं। सत्तारूढ़ पार्टी और राज्यपाल के बीच गतिरोध उस समय और अधिक गहरा गया, जब विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी ने मंगलवार को सदन को दो दिनों के लिए स्थगित कर दिया क्योंकि विधानसभा में जो विधेयक पेश होने थे, उन्हें अब तक राज्यपाल की सहमति नहीं मिली थी जो कि अनिवार्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *