सियासत में घमासान ,ऐतिहासिक भ्रष्टाचार का बड़ा खुलासा करेंगे – अमित जोगी

 

*जोगी कांग्रेस ने बनाई भ्रष्टाचार उजागर करने के लिए 102 सदस्यीय 18 उपसमितियां।*

*11 जुलाई को रायपुर में होगी 18 उपसमितियों की बैठक।*

*1 अगस्त तक उपसमितियां सौपेंगे पार्टी अध्यक्ष अमित जोगी को जोगी रिपोर्ट।*

*7 अगस्त को जोगी काँग्रेस मनाएगी “भ्रष्टाचार मुक्त दिवस”।*

✍🏻रायपुर, छत्तीसगढ़, दिनांक 2 जुलाई 2021। जनता काँग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मुख्य प्रवक्ता भगवानू नायक ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया भुपेश सरकार के ढाई साल के अभूतपूर्व और व्यापक भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिए जनता काँग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) ने 102 सदस्यीय 18 उप-समितियों का गठन किया है जो 1 अगस्त 2021 तक अनिवार्य रूप से प्रदेश अध्यक्ष श्री अमित जोगी को अपनी रिपोर्ट प्रेषित करेंगे। यह उप-समितियाँ शराब की अवैध बिक्री, चयनित औद्योगिक घरानों के पक्ष में गैरकानूनी पर्यावरणीय मंजूरी, बालू एवं अन्य गौण खनिजों (क्रशर) का अवैध खनन, गैर कानूनी भूमि-विपथन और रजिस्ट्रियां, गैर कानूनी कमीशन, भाई-भतीजावाद और न्यूनतम कीमतों से अधिक पर सरकारी निविदाएं और ठेके देने की मंत्रालय-वार रिपोर्ट, कोयला, लौह अयस्क, बॉक्साइट और अन्य खनिज सम्पदा का अवैध परिवहन, व्यक्तिगत लाभ के लिए कैम्पा निधि का दुरुपयोग, घटिया निर्माण के लिए उपयोगिता प्रमाण पत्र का गलत निर्गमन की मंत्रालयवार रिपोर्ट, मध्याह्न भोजन योजना में भ्रष्टाचार, शक्तिशाली वाणिज्यिक और औद्योगिक लॉबी से बिक्री कर, उत्पाद शुल्क, बिजली शुल्क और वैट सहित राज्य करों की जानबूझकर कम वसूली, केंद्र सरकार के कोष का मंत्रालयवार दुरूपयोग, वामपंथी उग्रवाद निधि का दुरूपयोग, उच्च शिक्षा में भ्रष्टाचार, स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में भ्रष्टाचार विशेष रूप से कोविड-19 प्रक्रिया के संबंध में, पीएचई और सिंचाई विभागों में भ्रष्टाचार, पंचायती राज संस्थानों में भ्रष्टाचार, अयोग्य अधिकारियों को उच्च स्तरीय प्रशासनिक पदों (स्थानांतरण-उद्योग) की नीलामी और नौकरियों की आउटसोर्सिंग की रिपोर्ट तैयार करने के 7 आवश्यक बिंदु तैयार करेंगे जो निम्नानुसार रहेंगे :-

भगवानू नायक ने बताया अपनी विस्तृत रिपोर्ट में उपसमितियां भ्रष्टाचार की कार्यप्रणाली का रिपोर्ट की कंडिका 1 में संक्षेप में ब्यौरा प्रस्तुत करेंगे भ्रष्टाचार के पुख़्ता प्रमाण RTI अथवा विश्वस्त सूत्रों के माध्यम से दस्तावेज़ी प्रमाण एकत्रित करेंगे, जिन्हें सम्मिलित कर कंडिका (2) में प्रस्तुत करेंगे; अगर RTI प्रणाली में जवाब नहीं मिलता, तो इसका भी ब्यौरा कंडिका (2) में ‘अप्राप्त’ निरूपित करके देंगे तथा अप्राप्ति के कारण का उल्लेख करेंगे; शासन को भ्रष्टाचार से रुपए में कुल कितना लाभ- एवं जनता को कितना नुक़सान- हो रहा है, की जानकारी कंडिका (3) में प्रस्तुत करेंगे; भ्रष्टाचार में भागीदार नेता, अधिकारी एवं ठेकेदार (व्यावसाही) का नाम, पता एवं भ्रष्टाचार से प्राप्त अवैध लाभ की कमाई का ब्यौरा रिपोर्ट की कंडिका (4) में देंगे; उनके विरुद्ध कार्यवाही (सजा) की सिफ़ारिश कंडिका (5) में करेंगे; उपरोक्त भ्रष्टाचार को रोकने के ठोस उपाय अपनी रिपोर्ट की कंडिका (6) में देंगे; JCCJ के द्वारा उपरोक्त समस्या का वैधानिक स्थायी समाधान- जो कि पार्टी के घोषणा पत्र का हिस्सा बनेगा- की रिपोर्ट कंडिका (7) में देंगे।

उपरोक्त प्रारूप में वे अपनी रिपोर्ट अनिवार्य रूप से 1 अगस्त 2021 तक माननीय प्रदेश अध्यक्ष श्री अमित जोगी को सौपेंगे।

उपरोक्त 18 उप-समितियों के लिए 102 सदस्यों का चयन किया गया है जो-

(1) यह कि अपने-अपने कार्य-क्षेत्र में किए जा रहे भ्रष्टाचार की कार्यप्रणाली का रिपोर्ट की कंडिका (1) में संक्षेप में ब्यौरा प्रस्तुत करेंगे।

(2) यह कि भ्रष्टाचार के पुख़्ता प्रमाण RTI अथवा विश्वस्त सूत्रों के माध्यम से दस्तावेज़ी प्रमाण एकत्रित करेंगे, जिन्हें सम्मिलित कर कंडिका (2) में प्रस्तुत करेंगे।

(3) यह कि अगर RTI प्रणाली में जवाब नहीं मिलता, तो इसका भी ब्यौरा कंडिका (2) में ‘अप्राप्त’ निरूपित करके देंगे तथा अप्राप्ति के कारण का उल्लेख करेंगे।

(4) यह कि शासन को भ्रष्टाचार से रुपए में कुल कितना लाभ- एवं जनता को कितना नुक़सान- हो रहा है, की जानकारी कंडिका (3) में प्रस्तुत करेंगे।

(5) यह कि भ्रष्टाचार में भागीदार नेता, अधिकारी एवं ठेकेदार (व्यावसाही) का नाम, पता एवं भ्रष्टाचार से प्राप्त अवैध लाभ की कमाई का ब्यौरा रिपोर्ट की कंडिका (4) में देंगे।

(6) यह कि उनके विरुद्ध कार्यवाही (सजा) की सिफ़ारिश कंडिका (5) में करेंगे।

(7) यह कि उपरोक्त भ्रष्टाचार को रोकने के ठोस उपाय अपनी रिपोर्ट की कंडिका (6) में देंगे।

(8) यह कि JCCJ के द्वारा उपरोक्त समस्या का वैधानिक स्थायी समाधान- जो कि पार्टी के घोषणा पत्र का हिस्सा बनेगा- की रिपोर्ट कंडिका (7) में देंगे।

भगवानू नायक ने बताया उपरोक्त ‘जोगी रिपोर्ट‘ अनिवार्य रूप से 1 अगस्त को माननीय प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी को सौंपी जाएगी जो आज तक के इतिहास का भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा खुलासा होगा। 7 अगस्त 2021 को ‘भ्रष्टाचार-मुक्त दिवस’ के अनुसरण में उपरोक्त रिपोर्ट के आधार पर माननीय सर्वोच्च न्यायालय, उच्च न्यायालय, लोकायुक्त, एंटी-करप्शन ब्युरो (ACB), आर्थिक अपराध विंग (EOW), CBI, ED और DoPT को दोषी नेताओं, अधिकारियों और व्यवसायियों के विरुद्ध पृथक से क़ानूनी कार्यवाही और उनके द्वारा चुराया गया काला धन लौटाने की विधिवत प्रक्रिया प्रारम्भ की जाएगी।

इस सम्बंध में विस्तृत रूप से चर्चा करने के लिए 11 जुलाई 2021 को दोपहर 11 बजे 102 सदस्यीय 18 उपसमितियों की आवश्यक बैठक सिविल लाइन स्थित अनुग्रह में आहूत की गई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *