सुकमा बड़ी वारदातो में शामिल महिला माओवादी ने किया पुलिस के सामने आत्मसमर्पण

(साधुराम दुल्हानी)
सुकमा। पुलिस प्रशासन द्वारा शासन की पुर्नवास नीति चलाई जा रही है जिसमें माओवादी गिरोह में फंसे लोग मुख्य धारा में लौट रहे है। जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत 02 लाख की इनामी महिला नक्सली पोडियम सोमड़ी ने सोमवार को सुकमा एसपी सुनील शर्मा और एएसपी नक्सल आप्स किरण चव्हाण के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। आत्मसमर्पित महिला नक्सली पोडियम सोमड़ी विगत 12 वर्षों से नक्सली सगठन में रहकर सक्रिय रूप से काम कर रही थी। वर्तमान में नक्सली संगठन में मिलिट्री प्लाटून नं. 04 सदस्य एंव कोंटा एरिया कमेटी में मेडिकल टीम सदस्या के रूप से काम कर रही थी। उक्त महिला नक्सली को आत्मसमर्पण कराने में डीआरजी किस्टाराम 02 के अधिकारी व कर्मचारियों का विशेष भूमिका रही है।  पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आत्मसमर्पित नक्सली माड़वी सोमड़ी ने 2010 में संगठन शामिल हुई, 04 वर्ष सीएनएम सदस्य के रूप में काम करने के बाद 2014 को एसीएम वेट्टी कन्नी के साथ काम किया। इसके बाद 2015 से अब तक  मिलिट्री प्लाटून नंबर 04 सदस्य व  प्लाटून मेडिकल टीम सदस्य के रूप मेंं काम कर रही थी। माड़वी सोमड़ी अपने साथ 12 बोर बंदूक रखती थी। सुकमा एसपी सुनील शर्मा ने बताया कि नक्सली संगठन के मिलिट्री प्लाटून नं. 04 सदस्य एंव मेडिकल टीम सदस्या के रूप मेंं कार्यरत 02 लाख की महिला नक्सली पोडियम सोमड़ी 12 वर्षों से संगठन में रहकर सुकमा जिले के बुरकापाल, मिनपा, पिड़मेल और भेजी-कोत्ताचेरू जैसे बड़े नक्सली घटनाओं में शामिल रही। सुकमा एसपी सुनील शर्मा और एएसपी नक्सल आप्तस किरण चव्हान के प्रयासों से 2 लाख की महिला ईनामी नक्सल ने आत्मसमपर्ण किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *